रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पूर्वी यूक्रेन के डोनबास क्षेत्र में विद्रोहियों के कब्जे वाले शहरों डोनेट्स्क और लुहान्स्की को अलग देश की मान्यता देने के बाद सेना भेजने का आदेश कर दिया है। पुतिन ने रक्षा मंत्रालय को पूर्वी यूक्रेन के दोनों अलगाववादी क्षेत्रों डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक और लुगांस्क पीपुल्स रिपब्लिक में रूसी सैनिकों को भेजने का आदेश दिया है।
रूस के इस कदम को युद्ध की पहल माना जा रहा है। हालांकि रूस इसे शांति स्थापित करने के लिए की गई कार्रवाई बताया है। तरफ रूस के कदम से अमेरिका, फ्रांस और जर्मनी काफी नाराज हैं। वहीं यूक्रेन ने राष्ट्रपति ने कहा वह रूस की कार्रवाई से नहीं डरते। रूस के सेना भेजने के आदेश के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा, रूस के विद्रोहियों को मान्यता देने से हम डरते नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हमें पश्चिमी देशों से समर्थन की पूरी उम्मीद है। वहीं अमेरिका, फ्रांस और जर्मनी भी लगातार इस घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है।
यूक्रेन और अमेरिका में लगातार शीर्ष स्तर पर बैठकों को दौर भी जारी है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की से भी बात की। व्हाइट हाउस के मुताबिक बाइडेन ने राष्ट्रपति जेलेंस्की को साथ होने का भरोसा दिया। उन्होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के फैसले की कड़ी निंदा भी की। राष्ट्रपति बिडेन ने कहा कि यूएसए, यूक्रेन के खिलाफ रूस के आक्रमण को रोकने के लिए जरूरी कदम भी उठाएगा। वहीं व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने जानकारी दी कि राष्ट्रपति जो बाइडेन ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन और जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज के साथ भी एक सुरक्षित लाइन पर बात की। दोनों देश के शीर्ष नेताओं ने भी पुतिन के फैसले की कड़ी निंदा की। यहां तय हुआ कि इस मामले पर तीनों ही देश करीब से नजर रखेंगे।
अमेरिक के विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकेन ने एक बयान में कहा हम तथाकथित डोनेट्स्क और लुहान्स्क पीपुल्स रिपब्लिक को अलग देश के रूप में मान्यता देने के राष्ट्रपति पुतिन के फैसले की कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा अन्य देशों का दायित्व है कि वे खतरे या बल प्रयोग के माध्यम से बनाए गए एक नए देश को मान्यता न दें। कहा कि रूस के राष्ट्रपति पुतिन का का निर्णय अंतरराष्ट्रीय कानून और मानदंडों के खिलाफ है। व्हाइट हाउस प्रेस सेक्रेटरी जेन पेस्की ने बताया कि राष्ट्रपति बिडेन जल्द ही एक कार्यकारी आदेश जारी करेंगे जो अमेरिकी व्यक्तियों द्वारा यूक्रेन के डीएनआर और एलएनआर क्षेत्रों में नए निवेश, व्यापार और वित्तपोषण को प्रतिबंधित करेगा। कार्यकारी आदेश यूक्रेन के उन क्षेत्रों में काम करने के लिए निर्धारित किसी भी व्यक्ति पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार भी प्रदान करेगा। उन्होंने बताया कि राज्य और ट्रेजरी विभागों के पास जल्द ही इस आदेश से जुड़े अतिरिक्त विवरण होंगे। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here