Close X
Sunday, November 1st, 2020

ग्रामीण विकास जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

DSCN8997 आदेश त्यागी , आई एन वी सी, हरियाणा, पानीपत , जिला के गांव सिवाह में मंगलवार को ग्रामीण विकास जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें पानीपत विकास खण्ड के 15 गांव की पंचायतों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम के मुख्यअतिथि उपायुक्त समीर पाल सरो रहे, जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता अतिरिक्त उपायुक्त ने की। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उपायुक्त समीर पाल सरो ने कहा कि हरियाणा का अतीत बहुत ही गौरवशाली रहा है। यहां के किसान और जवान ने हमेशा ही साहसिक कार्य करके हरियाणा का नाम रोशन किया है। हरियाणा के ग्रामीण क्षेत्र का और अधिक तेजी से विकास हो इसलिए ये कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, ताकि हरियाणा को एक शिक्षित व विकसित राष्ट्र बनाया जा सके। इसी के दृष्टिगत हरियाणा सरकार ने शहरों की तर्ज पर हरियाणा ग्रामीण विकास प्राधिकरण की स्थापना की है। उन्होंने कहा कि विकास के मामले में सरपंच गांव का डीसी होता है। इसलिए उसे पूरी जिम्मेदारी के साथ अपने पद का निर्वहन करना चाहिए। उन्होंने राजीव गांधी विकास सदन बनवाने के लिए 15 गांव की पंचायतों को 1 करोड़ 50 लाख रूपये की राशि देने की घोषणा की। उन्होंने कार्यक्रम में आए अध्यापकों व अभिभावकों से अनुरोध किया कि वे बच्चों को रोजगार परख उच्च कोटि की विश्व स्तरीय शिक्षा दिलवाने का प्रयास करें। यदि कोई प्रतिभाशाली गरीब बच्चा है तो उसकी न केवल स्वयं मदद करें, बल्कि जिला प्रशासन की ओर से भी भरपूर सहायता दिलवाने के लिए आगे आएं, इस क्षेत्र में ऐसी बाल प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं जो कल आईएएस, आईपीएस और चिकित्सा व इंजिनियरिंग के क्षेत्र में उच्च स्थान हासिल कर पानीपत जिले का नाम रोशन करेंगी। उन्होंने कहा कि रोजगार जीवन का आधार है, ग्रामीणों क ो उनके घर द्वार रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए मनरेगा जैसी महत्वाकांशी योजना लागू की है। जिसके तहत ग्रामीण विकास के सभी प्रकार के कार्य करवाएं जा सकते हैं और इस योजना के तहत देश में सबसे अधिक मजदूरी हरियाणा में दी जाती है, यहां 239 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से मजदूरी दी जा रही है। यही नहीं यदि कोई किसान इस योजना के तहत अपने खेत में मिट्टी का कार्य करता है तो एक ओर जहां उसका खेत समतल होगा वहीं उसे मजदूरी के पैसे भी मिलेंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा ऐसा पहला राज्य है जहां उन ग्रामीणों के भी पक्के मकान बनवाए जाते हैं जिनक अभी तक कच्चा मकान है और उनके पास बीपीएल कार्ड नहीं है। कार्यक्रम में आए सभी सरपंचों ने मांग की कि जेई समय पर एमबी नहीं भरते जिसके कारण विकास कार्यों में रूकावट आती है। इस पर उपायुक्त ने विभाग के सभी जेई को कड़े शब्दों में चेतावनी दी कि मनरेगा के तहत करवाए गए सभी कार्यों की मजदूरी का भुगतान हर हाल में 15 दिन के अन्दर कर दिया जाए। यदि ऐसा नहीं होता तो ये अधिकारी इसे अंतिम चेतावनी समझे। गांव रिसालु और गढी नांग्ल में फिरनी को पक्का करवाने, गांव सिवाह में गऊ चरान की मुक्त कराई गई भूमि पर गऊ वन एवं तालाब बनाने के लिए 20 लाख रूपये देने की घोषणा की और कार्य पूरा होने पर और अधिक राशि देने का आश्वासन दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अतिरिक्त उपायुक्त आरएस वर्मा ने इन कार्यक्रमों के महत्व पर प्रकाश डाला और मनरेगा, महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती योजना, इंदिरा गांधी आवास बस्ती योजना, जल संरक्षण और शिक्षा व्यवस्था की विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में गांव सिवाह के लोगों ने पानी निकासी का अच्छा सिसटम बनाने की मांग की। सभी सरपंचों ने अपने अपने गांव के स्कूलों में अध्यापकों के पद भरने की मांग जोर-शोर से उठाई। गांव के सरपंच रणदीप कादियान ने कार्यक्रम में पहुंचने पर मुख्यअतिथि एवं सभी सरपंचों का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के कलाकारों ने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया। इस अवसर पर उपनिदेशक पशु पालन राजबीर नैन, पीओ अजय कुमार, बीडीपीओ अशोक छिक्कारा, सभी विभागों के एसडीओ राजेश भारद्वाज, पीएस कोहली, रामधारी, राज ङ्क्षसह पूनिया, ब्लॉक समिति चेयरमेन मनोज बाल्मिकी, सदस्य राजेन्द्र बाल्मिकी, राजेन्द्र शर्मा,प्राचार्या अनीता डागर मौजूद रहे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment