Close X
Thursday, October 22nd, 2020

5 पाक घुसपैठिये ढेर


सरहद पर जारी हाई अलर्ट के बीच बाॅर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने तरनतारन जिले में शुक्रवार रात हुई मुठभेड़ में पांच हथियारबंद पाकिस्तानी घुसपैठियों को मार गिराया। बीएसएफ पंजाब फ्रंटियर के आईजी महिपाल सिंह यादव ने बताया कि शुक्रवार रात करीब 11:30 बजे धान के खेतों में हलचल का अंदेशा होने पर बीएसएफ जवानों ने जब घुसपैठियों को ललकारा तो उन्होंने फायरिंग शुरु कर दी।

जो सुबह 5:30 बजे तक चली। जवाबी कार्रवाई में सभी पांचों घुसपैठिये मारे गए। उनसे भारी मात्रा में हथियारों के अलावा हेरोइन भी बरामद हुई। खालड़ा पुलिस की मदद से चलाए सर्च अभियान में जवानों को खेतों से 5 युवकों के शव मिले जो सभी पाकिस्तानी थे। यादव ने बताया, मारे गए घुसपैठियों की तलाशी के दौरान मारे गए एक युवक की जेब से बीएसएफ काे एक कार्ड बरामद हुआ जाे लाहौर में फिरोजपुर रोड स्थित एक क्रिश्चियन काॅलेज का है।

माहिपाल ने बताया कि जब बीएसएफ ने पाक रेंजर्स को जब पांचों युवकों के शव सौंपने के लिए संपर्क किया गया तो पाक रेंजर्स ने युवकों को पहचानने से इनकार कर दिया। शव लेने से इनकार करने के बाद बीएसएफ ने सभी युवकों के शव, हथियार व हेरोइन खालड़ा पुलिस को सौंप दिए हैं।

धान के खेत में हुई मुठभेड़, घुसपैठियों ने पहन रखे थे स्पोर्ट्स सूट

घटनास्थल से एक एके-47, दो मैग्जीन, 27 जिंदा कारतूस, 4 पिस्टल (9 एमएम बेरेटा), 7 मैग्जीन, 109 जिंदा कारतूस के अलावा 9.920 किलो हेरोइन, दो मोबाइल और 610 रुपए पाक करंसी बरामद हुई। पांचों युवकों ने स्पोर्ट्स सूट पहन रखे थे। बीएसएफ के अधिकारी इसे सिर्फ तस्करी या घुसपैठ से जोड़कर नहीं देख रहे।

सवालों के घेरे में घुसपैठ का तरीका

अमूमन घुसपैठिए वापस भाग जाते हैं मगर यहांं घुसपैठियों ने 6 घंटे तक मुकाबला किया।
हेरोइन की 9 किलाे खेप पहुंचाने को 5 लोगों का आना मामले को संदिग्ध बनाता है।
ड्रग की खेप लाने वालों के पास हथियार नहीं रहते बल्कि उन्हें कवर करने वालों के पास रहते हैं। यहां ऐसा नहीं हुआ।
ड्रग की खेप लाने वाले कूरियर अक्सर फटेहाल होते हैं मगर मारे गए पांचाें घुसपैठिए युवा थे और उन्होंने स्पोर्ट्समैन वाले कपड़े पहन रखे थे।
अमूमन कुछ घुसपैठियों के पास हथियार रहते हैं और इनका पहला मकसद खुद काे कवर करना रहता है। मगर यहां सभी हथियारों से लैस थे।
मंसूबा टेरर फैलाना... बीएसएफ के पूर्व डीआईजी बीएस सरां कहते हैं कि ये पांचाें जिस तरीके से हेरोइन की खेप लेकर हथियारों के साथ आए थे, उससे यह शक जरूर पैदा करता है कि उनका मंसूबा टेरर फैलाना रहा हो। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment