Close X
Thursday, October 29th, 2020

24 करोड़ बच्चो को निजात दिलाएगी डी-वॉर्मिंग गोलि

jpnaddaआई एन वी सी न्यूज़
दिल्ली,
स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्री श्री जे पी नड्डा ने जयपुर में आज राष्‍ट्रीय डी-वॉर्मिंग दिवस की पूर्व संध्‍या पर एक से 19 साल तक के 24 करोड़ बच्‍चों को पेट के कीड़ों से निजात दिलाने के लिए राष्‍ट्रीय डी-वॉर्मिंग पहल का शुभारंभ किया। इस अवसर पर राजस्‍थान के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री श्री राजेन्‍द्र राठौड़ ने स्‍कूली बच्‍चों को डी-वॉर्मिंग गोलियों का वितरण किया। इस अवसर पर केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि पोलियो मुक्‍त दर्जा प्राप्‍त करने के बाद हमारा लक्ष्‍य देश को बच्‍चों को पेट के कीड़ों से मुक्ति दिलाना है। इस अवसर को देश के जन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए एक ऐतिहासिक अवसर बताते हुए श्री नड्डा ने कहा कि बच्‍चों को रोगाणुओं से निजात दिलाने का यह दुनिया का यह सबसे बड़ा अभियान है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के अनुमान के अनुसार भारत में एक से 14 साल उम्र के 24 करोड़ बच्‍चों को पेट के कीड़े होने का खतरा होता है। उन्‍होंने बताया कि इस अभियान का लक्ष्‍य एक से 19 साल उम्र के सभी प्री-स्‍कूल अथवा स्‍कूल जाने की उम्र वाले (चाहे वह स्‍कूल जाते हैं अथवा नहीं) बच्‍चों को आंत्र कृमियों से बचाना है। इस कार्यक्रम के पहले चरण में 11 राज्‍यों/ केंद्रशासित प्रदेशों असम, बिहार, छत्‍तीसगढ़, दादर और नगर हवेली, हरियाणा, कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान, तमिलनाडु, और त्रिपुरा के 14 करोड़ बच्‍चों को लक्ष्‍य कर अभियान चलाया जाएगा। कार्यक्रम के दूसरे चरण में 10 करोड़ बच्‍चों को लक्ष्‍य कर अभियान चलाया जाएगा। कार्यक्रम के पहले चरण में 10 फरवरी, 2015 को राष्‍ट्रीय डी-वॉर्मिंग दिवस के दिन से अल्‍बेनडाजोल की गोलियों का वितरण सभी लक्षित बच्‍चों को शुरू किया जाएगा। एक से दो साल तक के बच्‍चों को आधी गोली जबकि 2 से 19 साल के बच्‍चों को पूरी गोली दी जाएगी। इन चरणों में सुरक्षा प्राप्‍त करने से छुट गए बच्‍चों को 14 फरवरी, 2015 को विशेष मॉप-अप चरण में रोगाणु मुक्‍त बनाने के लिए गोलियां दी जाएंगी। श्री नड्डा ने देश के बच्चों को रोगाणु मुक्‍त बनाने के लिए अध्‍यापकों, आशा कार्यकर्ताओं और आगंनवाडी कर्मचारियो के अतिरिक्‍त सभी सांसदों, विधायकों और स्‍थानीय जन प्रतिनिधियों से कार्यक्रम में सहयोग करने का अनुरोध किया। इस अवसर पर स्‍वास्‍थ्‍य सचिव श्री बी पी शर्मा, राजस्‍थान के स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय के मुख्‍य सचिव श्री मुकेश शर्मा तथा केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय और राजस्‍थान सरकार के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment