Thursday, December 12th, 2019

1984 को लेकर राजनीति न चमकाएं सिख नेता

आई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष स. मनजिन्दर सिंह सिरसा ने त्रिलोकपुरी कत्लेआम के दोषियों के बरी होने के बाद आरही सिख नेताओं की प्रतिक्रियाऐं पर अफसोस प्रकट करते हुए कहा कि ऐसे मुद्दे पर राजनीति करना या अखबारों में तस्वीरें छपवाने के लिए गलत ब्यानबाजी करनाछोटी सोच को दर्शाता है। स. सिरसा ने बीबी निरप्रीत कौर, मनजीत सिंह जी.के. एवं कुछ अन्य नेताओं द्वारा त्रिलोकपुरी 1984 सिख कत्लेआम में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दोषियों को बरी किये जाने परप्रतिक्रिया करते हुए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पर उंगली उठाने का सख्त नोटिस ली है। दिल्ली कमेटी प्रधान ने कहा कि यह केस सुप्रीम कोर्ट में था एवं वकीलों द्वारा दोषियों के विरूद्ध केस लड़ा जारहा था। उन्होंने कहा कि बीबी निरप्रीत कौर एवं दूसरे नेता आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार की नाकामी को छुपाने के लिए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटीको इस मामले में जिम्मेंदार ठहरा रहें हैं, जो कि गैर-जिम्मेंवाराना है। उन्होंने आगे कहा कि 1984 सिख कत्लेआम के  पीड़तों के केस लड़ने के लिए एवं उनकी आर्थिकआवश्यकताओं के लिए शिरोमणी अकाली दल एवं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी जिम्मेंदारी से पैसा खर्च कर रही है, और जो करोड़ों रूपये खर्च किये जा रहें हैंवह बीबी निरप्रीति द्वारा ही हम कर रहें हैं। दिल्ली कमेटी नेता ने बीबी निरप्रीत कौर को सवाल करते हुए कहा कि वे यह समझायें कि दिल्ली कमेटी ने 1984 सिख कत्लेआम के केस लड़ने के समय कब लापरवाही की है,जबकि पीड़ितों एवं गवाहों की आर्थिक मदद के लिए करोड़ों रूपये बीबी के हाथों से ही दिलवाते रहें हैं। स. सिरसा ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्वअध्यक्ष स. मनजीत सिंह जी.के. को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि है कि वे बतायें कि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने इस मामले में लापरवाही दिखाई है तोफिर वे इस जिम्मेंदारी से कैसे भाग सकते हैं। उन्होंने कहा कि मैंनेतो थोड़े समय से ही सेवा संभाली है। दिल्ली कमेटी अध्यक्ष ने कहा कि गलत ढंग से शौहरत लेने केलिए ब्यानबाजी करनेवाले लोग भूल रहे हैं कि जब निचली अदालत ने 88 लोगों को एवं हाई कोर्ट के 70 केसों में सजा सुनाई थी तो उस समय भी तो यही दिल्ली कमेटीपैरवी कर रही थी। स. सिरसा ने कहा कि बीबी निरप्रीत तो हमारे द्वारा की जा रही कोशिशें को अच्छी तरह जानती हैं। उनके द्वारा दिल्ली कमेटी पर उठाई गई उंगली से मै हैरान हूँ किवे किसे सियासी फायदा पहुंचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। दिल्ली कमेटी नेता ने सिख नेताओं से अपील करते हुए कहा कि यह समय दिल्ली कमेटी पर कीचड़ फेंकनेका नहीं है बल्कि मामले की गंभीरता को समझने का है। स. सिरसा ने कहा कि हमारे कानूनी विशेषज्ञ फैसले का अध्ययन कर सुप्रीम कोर्ट के अदर समीक्षा पटीशनदायर कर रहे हैं। स. मनजिन्दर सिंह सिरसा ने उक्त सिख नेताओं को सलाह देते हुए कहा कि इस अति गंभीर मसले पर सियासत ना की जाये बल्कि एकजुट होकरदोषियों को सजाएं दिलवाने के बारे में सोचा जाये।



Comments

CAPTCHA code

Users Comment