Sunday, March 29th, 2020

16 लाख से ज्यादा लोगों को औद्योगिक प्रशिक्षण

geeeta bhukkalआई एन वी सी, हरियाणा, हरियाणा सरकार ने 12वीं पंचवर्षीय योजना के लिए राज्य में 16.75 लाख लोगों को औद्योगिक प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा है। इस संबंध में जानकारी देते हुए हरियाणा औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री श्रीमती गीता भुक्कल ने बताया कि विभाग राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के साथ-साथ निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों की संख्या बढ़ाकर प्रशिक्षण क्षमता बढ़ाने की ओर ध्यान दे रहा है। इसके अलावा, वर्तमान संस्थानों की सीटें भी बढ़ाई जा रही हैं। इसके अतिरिक्त, 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान राजकीय तथा व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदाता के रूप में पंजीकृत निजी संस्थानों के नेटवर्क के माध्यम से रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय की मॉड्यूलर इम्प्लॉयएबल स्किलज पर आधारित कौशल विकास पहल योजना के तहत अल्पावधि/माडयूलर इम्प्लॉयएबल कोर्सों के माध्यम से 2 लाख अकुशल/बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षित किया जायेगा। कौशल विकास के लिए वर्ष 2013-14 के लिए इस क्षेत्र को 200 करोड़ रुपये आबंटित किए गए हैं, जो चालू वित्त वर्ष के योजनागत आबंटन की तुलना में 50 प्रतिशत अधिक है। उन्होंने बताया कि वर्ष 1966 में जब हरियाणा एक पृथक राज्य के रूप में अस्तित्व में आया तो उस समय 7156 सीटों के साथ 48 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान थे। अब औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग शिल्पकार प्रशिक्षण के तहत बेरोजगार युवकों को 131 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों तथा 94 निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के नेटवर्क के माध्यम से कौशल विकास का प्रशिक्षण दे रहा है। वर्ष 2012-13 के दौरान राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में उत्कृष्टता केन्द्रों सहित 2505 ट्रेडों में 39168 स्वीकृत सीटें थी तथा निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 908 ट्रेडों में 14416 सीटें थी। उद्योग तथा बाजार की मांग के अनुरूप नये ट्रेड आरम्भ किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोसली (रेवाड़ी), कलायत (कैथल), सांतौर (भिवानी) तथा माजरा प्याऊ (हिसार) में चार नए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण आरंभ किये गये हैं। तीन नए निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान आरंभ किये गये हैं। राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण के लिए दो नये विंग आरंभ किये गये हैं। मंत्री ने बताया कि 18 नये राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान खोलना प्रक्रियाधीन हैं। मेवात क्षेत्र में पुन्हाना, पिंगवां, तावड़ू, पुन्हाना (महिला), फिरोजपुर झिरका (महिला), उझीना (महिला) तथा पिंगवां (महिला) में सात नये औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान खोलने का भी प्रस्ताव है। उझीना, नगीना तथा फिरोजपुर झिरका औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों का 13वें वित्त आयोग की सिफारिशों के अंतर्गत आबंटित 100 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता से विस्तार का काम चल रहा है। रोहतक में प्रशिक्षु प्रशिक्षण संस्थान तथा झज्जर में एडवांस ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट खोलने का प्रस्ताव है। उन्होंने बताया कि रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय की कौशल विकास मिशन योजना के तहत वंचित खण्डों में 25 नए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तथा सार्वजनिक-निजी भागीदारी पद्धति पर 85 कौशल विकास केन्द्र खोलने का भी प्रस्ताव है। प्रशिक्षण गुणवत्ता में सुधार के दृष्टिगत 16 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के इंफ्रास्ट्रक्चर को व्यावसायिक प्रशिक्षण सुधार परियोजना के तहत अपग्रेड किया जा रहा है तथा 52 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों का उन्नयन भारत सरकार की सार्वजनिक-निजी भागीदारी पद्धति पर किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त, योजनागत स्कीमों के अंतर्गत उपलब्ध बजट के साथ शेष औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के लिए नवीनतम मशीनरी तथा नवीनतम प्रौद्योगिकी के उपकरणों की खरीद की जा रही है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment