Close X
Friday, April 23rd, 2021

​माफी मांगे केजरीवाल

​​आई एन वी सी न्यूज़​
​​नई दिल्ली, दिल्ली के विधायक श्री मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज राष्ट्रीय राजधानी बीच वाले चौराहों पर आज ’केजरीवाल टर्न नाटक अलाउड’ केबोर्ड लगवा दिए जिससे लोगों को आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मु2यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल के रवईए से जानकार करवाया जा सके। यहां जारी किए एक बयान में श्री सिरसा ने कहा कि श्री केजरीवाल ने अपने क्रांतिकारी नारों के साथ दिल्ली के लोगों को गुमराह किया और अपने हरराजनैतिक विरोधी को भ्रष्ट, गैर कानूनी काम करने वाला और ऐसीं नीतियों पर चलने वाला करार देने का यत्न किया जो आम आदमी के हितों के खिलाफ होंगे।उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों ने केजरीवाल पर विश्वास किया और पहली बार 49 दिनों की असफलता को आंखों से अदृश करते दूसरी बार फिर वोट डालकर दिल्ली का मुख्यमंत्री बनाया। श्री सिरसा ने कहा कि अब जब तीन साल बीत चुके है तो लोग श्री केजरीवाल का रवैया देख कर हैरान हैं जो कि अपने सभी राजनैतिक विरोधियों से माफी मांगरहे हैं जिन के खिलाफ  उन्होंने आधारहीण, दूषणबाजी की थी और राजनीति से प्रेरित दोष लगाए थे। उन्होंने कहा कि अपनी बात से पल्टन यानि यू टर्न लेने केइस रवईए से वह सभी लोग हैरान हैं जिन्होंने न सिर्फ  अपने देश में बल्कि विदेशों में भी अपनी, नौकरियां छोड़ कर उनकी मदद की परन्तु आज के हालातदेख कर वह हैरान परेशान हैं। उन्होंने कहा कि यह लोग श्री केजरीवाल को हिमायत करने के फैंसले पर अब पछता रहे हैं और मायूस हैं क्योंकि श्रीकेजरीवाल भारतीय राजनीति के सब से बड़े झूठे नेता बन गए हैं। उन्होंने कहा कि श्री केजरीवाल अब दिल्ली के लोगों के पास से भी माफी मांगनी चाहिए। दिल्ली के विधायक ने कहा कि उन्होंने अलग अलग चोराहों पर बोर्ड इस लिए ही लगाए हैं जिससे लोग उनके रवईए और व्यवहार से जानकार हो सकें औरसमझने सकें कि ऐसा व्यवहार न सिर्फ  राजनीति बल्कि हमारे रोजाना के जीवन में नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे यू टर्न हमारे समाज के लिए भीघातक सिद्ध हो सकते हैं क्योंकि लोग राजनैतिक नेताओं से टास करते हैं कि वह सत्य बोलते हैं तो वह उन की बात पर विश्वास कर उनको आम आदमी केनेतृत्व करने का अधिकार देते हैं। उन्होंने कहा कि श्री केजरीवाल ने ऐसी उदाहरण पेश की है जो लोगों को वर्षो तक याद रहेगी और हर चुनाव दौरान आमव्यक्ति के लिए ऐसे झूठे नेताओं पर विश्वास करना कठिन हो जाएगा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment