Sunday, December 8th, 2019

​पिछले 5 दशकों से निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसर​ : ​आरईसी ​

​आई एन वी सी न्यूज़​
​​नई दिल्ली​,
आरईसी लिमिटेड द्वारा अपना 50वां स्थापना दिवस मनाया गया। आरईसी एक नवरत्न एनबीएफसी है जिसकी स्थापना 1969 में की गई थी। कंपनी द्वारा विद्युत क्षेत्र की वैल्यू चेन में लगभग 10 लाख करोड़ रूपए की परियोजनाओं का वित्तपोषण किया गया है। सतत भविष्य के विजन के साथ कंपनी ने अब तक लगभग 5 गीगावाट की नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं का वित्तपोषण किया है और कंपनी को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ग्रीन बाण्ड्स के जरिए पैसा इकट्ठा करने वाले पहले भारतीय कारपोरेट पीएसयू का दर्जा प्राप्त है। आज, आरईसी का लोन बुक 2.80 लाख करोड़ रुपए से अधिक है। समारोह की इस संध्या के मुख्य अतिथि माननीय विद्युत, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री आर.के. सिंह ने अपने संबोधन में आरईसी को 'एक सहयोगी, दूरदर्शी, और राज्यों की पावर यूटिलिटी का मार्गदर्शक' बताया और अपने कार्यकाल के पहले चरण के समय आरईसी के साथ काम करने के दौरान की स्मृतियों को साझा किया। समारोह के गेस्ट ऑफ ऑनर विद्युत मंत्रालय के सचिव ने कहा कि विद्युत क्षेत्र में काम करने वाला एक वित्तीय संस्थान होने के बावजूद राष्ट्र निर्माण के कार्यों जैसे कि 'सौभाग्य' में आरईसी का काम सराहनीय रहा है। आरईसी लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, श्री अजीत अग्रवाल ने कहा कि 'इस तरह के स्वर्ण जयंती समारोहों से हमें हमारे गौरवमयी अतीत की झलक मिलती है और हम एक नये जज़्बे और जोश के साथ देश के बहुमुखी विकास में अपना योगदान देने के लिए प्रेरित होते हैं।' समारोह में उपस्थित व्यक्तियों के लिए मनोरंजक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। इस कार्यक्रम में विद्युत मंत्रालय के प्रमुख वरिष्ठ अधिकारियों के साथ-साथ  सार्वजनिक क्षेत्र के विभिन्न उद्यमों के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। कार्यक्रम में आरईसी के भूतपूर्व अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशकों को भी सम्मानित किया गया।



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment