फ़िल्मकार फिरोज़ खान नहीं रहे

8
89

एम. ए. हक़

बंगलौर. बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता व फ़िल्मकार फिरोज़ खान का बीती रात बंगलौर में देहांत हो गया है। वह 69 वर्ष के थे. वे पिछले एक साल से कैंसर से पीड़ित थे और मुंबई के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। वे बेहतरीन अभिनेता होने के साथ-साथ कुशल निर्माता-निर्देशक भी थे. उनका जन्म बंगलौर में हुआ था।

फिरोज़ खान ने आज यहां अपने फार्म हाउस में तड़के डेढ़ बजे अंतिम सांस ली। उनके पुत्र और अभिनेता फरदीन खान और कुछ पारिवारिक सदस्य उनकी मृत्यु के समय मौजूद थे। फिरोज़ खान की आखिरी तमन्ना के मुताबिक़ उन्हें आज फार्म हाउस में दफ़नाया जाएगा.

उनकी पहली फिल्म ‘दीदी’  थी, जो 1960  रीलिज हुई थी। उनकीं बेहतरीन फिल्मों में कुर्बानी, धर्मात्मा और जाबांज प्रमुख थी। इसके अलावा उनकी फिल्मों में आदमी और इंसान, प्यासी शाम, आग, औरत, सीआईडी, रात और दिन, वो कोई ओर होगा, मैं वहीं हूं,  तस्वीर, आरजू, एक सपेरा एक लुटेरा, उंचे लोग, तीसरा कौन, सुहागन, बहूरानी, टार्जन गोज इंडिया, मैं शादी करने चला,   अंजान राहे, गीता मेरा नाम, खोटे सिक्के,  किसान और भगवान, कशमकश, अपराध,  उपासना, एक पहेली, मेला, एक खिलाड़ी एक हसीना, जांनशीन, यलगार, मीत मेरे मन का, दयावान, कच्चे हीरे,  चुनौती, दरिंदा, जादू टोना, नागिन, शराफत छोड़ दी मैनें और वेलकम आदि शामिल हैं.

8 COMMENTS

  1. I like the valuable info you provide in your articles. I’ll bookmark your weblog and check again here regularly. I am quite certain I’ll learn lots of new stuff right here! Good luck for the next!

  2. I’ve been looking around the internet viewing website layouts, when I found this site. I this design, did you build or modify this template? I have a web site too and my template looks kinda ugly as a result visitors do not hang about on my webblog very long.

  3. Getting traffic to a blog isn’t easy huh? I remember when I first started. lol I was really BAD! I spent hundreds buying fake traffic from scammers at DP. I tried email scams (where I was scammed, of course). I even hired an Indian seo guru. lolol I’m still learning the art of blog/site traffic, but Jesus I’ve come a long ways. So can you share any secrets on how you increaded your readership? I just posted something about rapid mass traffic (cheap, targeted traffic) that you may want to check out when you can here. Mind me asking how many daily visitors you’re up to man?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here