झारखंड में 11वें मुख्यमंत्री के रूप में झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन शपथ लेंगे। हेमंत सोरेन के साथ कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव के शपथ लेने की बात सामने आयी है।, जबकि झामुमो के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री स्टीफन मरांडी के भी कल मंत्री के रूप मेंशपथ लेने की संभावना है। हालांकि अब तक राजभवन या झामुमो की ओर से यह साफ नहीं किया गया है कि कल किन-किन दलों के कौन-कौन विधायक मंत्री के रूप में शपथ लेंगे।

पार्टी के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह राजेश ठाकुर ने बताया कि पार्टी विधायक दल के नेता आलमगीर आलम भी मंत्री के रूप में शपथ लेंगे। आलमगीर आलम इस बार पाकुड़ से चुनाव जीते है और उन्होंने 65हजार से अधिक मतों के अंतर से जीत का रिकॉर्ड बनाया है। उन्होंने बताया कि रामेश्वर उरांव भी मंत्री के रूप में शपथ लेंगे। रामेश्वर उरांव इस बार लोहरदगा विधानसभा सीट से चुनाव जीत कर आये है। उन्होंने लोहरदगा में भाजपा प्रत्याशी और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत को पराजित किया।
वहीं झामुमो के वरिष्ठ विधायक स्टीफन मरांडी सातवीं बार इस बार महेशपुर विधानसभा सीट से चुन कर आये है। इससे पहले भी वे झामुमो नेतृत्व वाली सरकार में उपमुख्यमंत्री और मंत्री का पद संभाल चुके है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल का विस्तार अब 14 जनवरी के बाद होने की संभावना है। इससे पहले नवनिर्वाचित विधायकों के शपथ ग्रहण और विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव संपन्न हो जाएगा और नयी सरकार द्वारा विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया जा सकेगा। PLC.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here