ब्यूरो

नई दिल्ली.  यूरोप में भारतीय समुदाय के लोगों को एक साथ लाने के उद्देश्य से हेग में तीसरे क्षेत्रीय मिनी-प्रवासी भारतीय दिवस आयोजित किया गया था। इस आयोजन का उद्देश्य संस्कृति, विरासत और परंपरा के क्षेत्रों में भारत और यूरोप के बीच सहयोग बढाना तथा भारत-यूरोपीय व्यापार और निवेश के अवसरों की तलाश करना था। इस कार्यक्रम में हेग नगरपालिका की भागीदारी के साथ-साथ नीदरलैंड के इंडो-डच संगठनों की ओर से सक्रिय सहयोग भी मिला। इस कार्यक्रम में 405 पंजीकृत आमंत्रित अतिथियों और 40 मीडिया कर्मियों सहित 535 लोगों ने भाग लिया।

 प्रवासी भारतीय कार्य मंत्री वयालार रवि ने भारतीय अर्थव्यवस्था के लचीलेपन पर जोर देते हुए कहा कि भारत ने यूरोप के भारतवंशियों अथवा अप्रवासी भारतीयों के लिए सभी क्षेत्रों में व्यापक अवसरों की पेशकश की है।

 डच के पूर्व प्रधानमंत्री और मुख्य अतिथि प्रो. रूड लूबर्स ने बताया कि किस प्रकार अंतर्राष्ट्रीय समुदाय राज्यों की स्वतंत्रता और संप्रभुता से अपना ध्यान हटाकर राज्यों की अंतर-निर्भरता की ओर केन्द्रित कर रहा है। उन्होंने कहा कि एक बहु-आयामी विश्व में भारत को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी और भारतीय समुदाय सभ्यताओं को आपस में जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

1 COMMENT

  1. Refreshing and I appreciate the time you put into this post.very instructive. I wish there were additional websites like it. Anyhow, I felt it was around time I posted.I am not that much of a reader to be frank but your web sites pretty first-class, keep it up as I will bookmark ready for my next read.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here