Close X
Tuesday, October 20th, 2020

हिन्दू संगठनों का नया फरमान - रात 2 बजे तक पटाखे फोड़ो

chandra-prakash-kaushik-hindu-mahasabha-presidentआई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली,

हिन्दू महासभा भवन में आयोजित हिन्दू संगठनों की बैठक में हिन्दू संगठनों ने अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री चन्द्र प्रकाश कौशिक जी के नेतृत्व में निर्णय लिया है कि दीपावली का पर्व खोया-पनीर की मिठाईयों, पटाखों और आतिशबाजियों के धूम धडाकों के साथ हर्षोल्लास के साथ पारम्परिक तरीके से मनाया जायेगा। बैठक में हिन्दू संगठनों ने तय किया है कि सभी लक्ष्मी पूजकों का लक्ष्मी पूजन के सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त  १८.२७ से २०.०९ में लक्ष्मी पूजा करना सर्वश्रेष्ठ होगा। इसी के साथ सभी लक्ष्मी पूजक हिन्दू परिवार अमावस्या तिथि की समाप्ति ३० अक्टूबर २०१६ को २३.०८ बजे तक पूजन अवश्य सम्पन्न कर लें। पूजन की समाप्ति के बाद पारम्पिरिक रूप से पटाखें छुडायें जायें। जिन लक्ष्मी पूजकों ने पूजन लक्ष्मी पूजन के सर्वश्रेष्ठ मुहूत १८.२७ से २०.०९ में किया है वें लक्ष्मी पूजक  रात्रि 11 बजकर 8 मिनट तक अमावस्या तिथि की समाप्ति तक पटाखें और आतिशबाजी छुडायें। जिन लक्ष्मी पूजकों ने लक्ष्मी पूजन रात्रि 11 बजकर 8 मिनट तक सम्पन्न किया है उन सभी को भी रात्रि 2 बजकर 8 मिनट तक 3 घन्टों की अवधि पटाखें ओर आतिश बाजी छुडाकर दीपावली हर्षोल्लास और धूम धडाके के साथ मनाने का समय दिया जाता है।
हिन्दू संगठनों ने सभी लक्ष्मी पूजकों से अनुरोध किया है कि वें हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री चन्द्र प्रकाश कौशिक जी के आदेश का पूर्णरूप से पालन करें। जिसका उल्लंघन करने पर सामाजिक दण्ड दिया जा सकता है। हिन्दू संगठनों ने महामहिम राष्ट्रपति जी को ज्ञापन देकर दीपावली पर पटाखों को हर्षोल्लास से छुटाकर मच्छरों से पनपी बीमारिया डेंगू,चिकनगुनिया आदि का विनाश करने के हिन्दू महासभा व हिन्दू संगठनों के धार्मिक आदेश के खिलाफ चलाये जा रहे पर्यावरण मन्त्रालय,प्रदूषण नियन्त्रण समितियों, दिल्ली सरकार के अभियान ‘ से नो टू फायर क्रेकर ’ को रोकने का अनुरोध किया है।
 हिन्दू महासभा भवन में आयोजित हिन्दू संगठनों की बैठक में दारा सेना और पटाखे छुडाओ-डेंगू भगाओ महाअभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुकेश जैन ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 25 के अनुसार हमें अपने धर्म को अबाध रूप से मानने आचरण करने और प्रचार करने का मूलाधिकार मिला हुआ है। इसी के साथ मूलाधिकार अनुच्ठेद 26 में अपने धार्मिक कायों के प्रबन्धन स्वयं करने का मूलाधिकार धार्मिक संस्थाओं को देता है। साफ बात यह है दीपावली पर हमें खोया पनीर की मिठाई खानी है या बुन्दी के लड्डू यह हमारा धार्मिक मामला है। इसी के साथ-साथ हमें पटाखे कहा छुडाने है कब छुडाने है यह भी हमारा धार्मिक मामला है। जिसमें हस्तक्षेप करने और पटाखों और मिठाईयों के खिलाफ अभियान चलाकर हमारे धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप करने का न तो प्रशासन और हिन्दू विरोधी आतंकवादी एनजीओ को कोई अधिकार है और न ही कोई न्यायालय इस मामले में कोई नया नियम या आदेश जारी कर सकता,ओर आदेश भी ऐसा जो कि मूलाधिकारों का हनन् करे।
आई आई टी इंजीनियर श्री मुकेश जैन ने बताया कि पटाखों में गन्धक नामक जीवाणु नाशक तत्व होता है जो वातावरण के कीटाणुओं को नष्ट करके डेंगू और चिकनगुनिया जैसी महामारी का पूर्ण सफाया करता है। पटाखों के धमाकों से उडे धूलकण मच्छरों के लिये बम के छर्रो का काम करके उनका विनाश करते है। पटाखों की सल्फर डाई आक्साईड गैस अस्थमा और दमें के मरीजों के लिये इन्हेलर का काम करके उनके स्वास्थ्य के लिये लाभकारी है। हिन्दू संगठनों की बैठक में पटाखे छुडाओ-डेंगू भगाओ महाभियान के राष्ट्रीय संयोजक श्री स्वप्न दत्ता ने बताया कि एक सोची समझी विदेशी साजिश के तहत आतंकवादी मिश्निरियों के सी आई ए और फोर्ड फाउन्डेशन की फंडिग पर चल रहे गिरोह न्यायालयों में याचिकाए लगाकर पटाखों को प्रदूषणकारी घोषित कराने और पटाखों के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। यें ही गिरोह हमारे कुशल हलवाईयों द्वारा बनायी दीवाली की पवित्र मिठाईयों को भी दूषित और मिलावटी बताकर कडब्रिज जैसी अंग्रेजी कम्पनियों की चाकलेट खरीदने को प्रोत्साहित कर रहे हैं। इसके पीछे इनका मकसद इन चाकलेटों में छुपकर मिलाई गाय की चर्बी और हड्डिया से हमारे त्यौहारों की पवित्रता को नष्ट करके ‘‘यीशु जिसमें येरूश्लम के महान राजा ने शैतान पाया था’’ की शैतानी ताकत को बढाना हैं। श्री स्वप्न दत्ता ने  बताया कि ये गिरोह सबसे पहले देखते है कि न्यायालय में बैठा जज सर्वोच्च न्यायालय के महाभ्रष्ट जज के जी बालाकृष्णन् तरह सी आई ए की रिश्वत खोर जजों की लिस्ट में शामिल है या नहीं। यें गिरोह ऐसे सी आई ए और आतंकवादी मिश्निरियों के ऐजेन्ट रिश्वतखोर जजों से सेटिंग करके हिन्दुत्व विरोधी फैसले कराने में लगातार कामयाब हो रहे हैं। हिन्दू संगठनों ने आई आई टी इंजीनियर श्री मुकेश जैन से सहमति जताते हुए तय किया है कि इस मामले में किसी को भी हम अपने धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने देंगे,हम संविधान द्वारा प्रदत्त मूलाधिकारों का हनन् करने वाले हर शख्श का न केवल विरोध करेंगे बल्कि ऐसी संविधान विरोधी ताकतों को मुंहतोड जवाब देकर भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त मौलिक अधिकारों की रक्षा करेंगे।
महामहिम राष्ट्रपति जी को दिये ज्ञापन में हिन्दू संगठनों ने विदेशी मिश्निरी साजिशकर्ताओं और उनके भारत विरोधी मीडिया द्वारा पटाखों व मिठाईयों के खिलाफ चलायी जा रही मुहिम पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने का अनुरोध करते हुई हिन्दुओं के धार्मिक मूल अधिकार 25 और 26 की रक्षा करने का निवेदन किया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment