Close X
Sunday, September 27th, 2020

हाथ से मैला उठाने की प्रथा प्रत्येक दशा में समाप्त की जाय : आलोक रंजन

alok ranjan invc newsआई एन वी सी न्यूज़ लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने निर्देश दिए हैं कि हाथ से मैला उठाने वाले कर्मियों को चिन्हित कर इस प्रथा को हटाने हेतु स्वरोजगार के लिए लगभग 40 हजार की धनराशि नियमों के तहत प्राथमिकता से उपलब्ध कराई जाय। उन्होंने कहा कि ऐसे कर्मियों को चिन्हित कर उन्हें इस प्रथा से छुटकारा दिलाने के उददेश्य से नगर निकायों में- नगर पालिकाओं, नगर निगमों आदि में संविदा के आधार पर सफाईकर्मी के रूप में प्राथमिकता से नियुक्ति सुनिश्चित कराई जाय। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाय कि हाथ से मैला उठाने की प्रथा समाप्त हो जाय। उन्होंने कहा कि इस कार्य से जुड़े लोगों को स्वरोजगार हेतु प्रशिक्षण भी दिलाये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में हाथ से मैला उठाने वाले कर्मियों के नियोजन का प्रतिषेध और उनका  पुर्नवास अधिनियम 2013 को प्रभावी ढंग से क्रियान्वित कराने हेतु आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने यह भी कहा कि सड़कों के किनारे नालियों में बहने एवं बहाने वाली खुले शौचालय को चिन्हित कर सम्बन्धित मकान मालिकों को नोटिस तामील कराकर प्राथमिकता से ध्वस्तीरकण की कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाय ताकि आम सड़क में गन्दगी न फैलने पाय। उन्होंने कहा कि ऐसे चिन्हित मकान मालिकों के शौच हेतु उपयोगार्थ सामुदायिक शौचालय भी प्राथमिकता से बनवा दिये जाय। बैठक में प्रमुख सचिव समाज कल्याण श्री सुनील कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थेे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment