संजय रॉय 

चंडीगढ़.     पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के अधिकारियों की अधिक लॉयर्स चैम्बर्स और कोर्ट रूम की मांग को ध्यान में रखते हुए चंडीगढ़ प्रशासन ने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के केम्पस में नए लॉयर्स चैम्बर्स और 16 कोर्ट रूम का निर्माण करने का निर्णय लिया है। आधारभूत ढांचे की बेहतरी के लिए प्रशासन ने कोर्ट परिसर में ही मल्टी-लैवल पार्किंग के निर्माण का भी निर्णय लिया है। मल्टी-लैवल पार्किंग में 600 ईसीएस के बराबर पार्किंग के लिए स्थान उपलब्ध होगा। कोर्ट रूम के निर्माण कार्य पर लगभग 10 करोड़ रूपये खर्च होंगे,  जबकि मल्टी लैवल पार्किंग और लॉयर्स चैम्बर्स की लागत क्रमश: 7.35 करोड़ और 4.52 करोड़ रूपये होगी।

 यूटी वित्त व इंजीनियरिंग सचिव संजय कुमार ने बताया कि हाईकोर्ट परिसर में स्थान की कमी और संरचनात्मक व वित्तीय समर्थता को ध्यान में रखते हुए मौजूदा हाईकोर्ट इमारत के टॉप फ्लोर पर कोर्ट रूमस का निर्माण किया जाएगा। कोर्ट रूम हाईकोर्ट के न्यायाधीशों की बढ़ती संख्या की आवश्यकताओं की पूर्ति करेंगे। अतिरिक्त कोर्ट रूम के निर्माण से ज्यादा सुनवाई सत्र हो सकेंगे, जिससे हाईकोर्ट की कार्यक्षमता बढ़ेगी और न्याय वितरण प्रणाली में तीव्रता आएगी। इस परियोजना का निर्माण कार्य अति शीघ्र आरंभ हो जाएगा।

वित्त सचिव ने बताया कि हाईकोर्ट अधिकारियों द्वारा लगातार अतिरिक्त पार्किंग स्पेस की मांग की जा रही थी। कोर्ट इमारत में मल्टी लैवल पार्किंग के निर्माण से बढ़ रही पार्किंग की समस्या काफी हद तक कम होने की संभावना है। लॉयर्स चैम्बर्स पांच मंजिला और मल्टी लैवल पार्किंग डबल बेसमैंट और ग्राउंड फ्लोर है। मल्टी लैवल पार्किंग व लायर्स चैम्बर्स का निर्माण कार्य आरम्भ हो चुका है और 12 महीनों के भीतर ही पूर्ण होने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here