Wednesday, May 27th, 2020

हरियाणा के पेंशन मामलो में हो सकती है देरी

आई.एन.वी.सी,,
हरियाणा,,
हरियाणा वित्त विभाग ने राज्य के सभी विभागाध्यक्षों, मण्डलायुक्तों और उपायुक्तों को निर्देश दिये हैं कि वे अपने विभागों से सम्बन्धित सेवा निवृत्त होने वाले कर्मचारियों के पेंशन और पारिवारिक पेंशन मामले समय पर भेजें ताकि उन्हें समयबद्घ तरीके से निपटाया जा सके। इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए हरियाणा वित्त विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि हरियाणा के महालेखाकार ने यह बताया है कि समय-समय पर राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार कर्मचारी के सेवानिवृत्ति से 6 माह पहले ही विभाग पेंशन मामले हरियाणा के महालेखाकार को नहीं भेज रहे हैं, जिसकी वजह से पेंशन मामलों को निपटाने में अनावश्यक तौर पर देरी हो रही है। उन्होंने बताया कि हरियाणा के महालोखाकार ने पेंशन और पारिवारिक पेंशन मामलों के सम्बन्ध में दिशा-निर्देश दिये है। उन्होंने बताया कि सभी विभागाध्यक्ष और कार्यालय के अध्यक्ष पेंशन मामलों को निपटाने के लिए इन दिशा निर्देशों पर अमल करें। उन्होंने बताया कि इन पेंशन स्वीकृति प्राधिकरण द्वारा पेंशनरी लाभ देने के लिए एक सिफारिशों का पत्र लगा हो, पेंशन स्वीकृति प्राधिकरण द्वारा फार्म-16 हस्ताक्षरित हो,फार्म पैन-। पेंशनर द्वारा भरा हो और पेंशन स्वीकृति प्राधिकरण द्वारा हस्ताक्षरित हो, फार्म-9 पेंशनर की फोटो की चार कॉपी सिंगल और संयुक्त विभागीय प्राधिकारी द्वारा सत्यापित होनी चाहिएं, सेवा की हिस्ट्री और हिस्ट्री सीट में वेरिफीकेशन ऑफ रिपोर्ट का विवरण, स्वः और जीवन साथी के हस्ताक्षरों के सत्यापित नमूने, स्वः और जीवन साथी के कद और पहचान की सत्यापित जानकारी, सेवा निवृत्ति का वर्तमान और पूर्व विवरण पता, परिवार के सदस्यों की जन्म तिथि और सम्बन्ध, सभी प्रकार से पूर्ण की हुई सेवा पुस्तिका, पेंशनरी लाभ में क्वालीफाई सर्विस और पेंशनरी लाभ की गणना की स्टेटमेंट, नॉन क्वालीफाईंग सेवा का विवरण, अंतिम वेतन प्रमाण पत्र, अनुबंध 2 और 3 का प्रमाण पत्र, न्यायिक और विभागीय कार्यवाही बकाया और सेवा निवृत्त आदेश से सम्बन्धित प्रमाण पत्र, रिफंड पेंशन डीसीआरजी के तहत घोषणा पत्र, पेंशन द्वारा सरकारी बकाया का प्राधिकृत पत्र और नॉन रिशिप्ट पेंशन या डीसीआरजी से सम्बन्धित घोषणा पत्र, एंटी स्पेटरी पेंशन से सम्बन्धित धोषणा पत्र और सेना सेवा से सम्बन्धित प्रमाण पत्र, फार्म पैन-12ए, एनडीसी, फार्म पेन-15 और  विभागीय डाटा सीट होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि पारिवारिक पेंशन मामलों में पेंशनरी लाभ लेने के लिए पेंशन स्वीकृत प्राधिकरण द्वारा  जारी किया हुआ सिफारिशी पत्र, पेंशन स्वीकृत प्राधिकरण द्वारा एनडीसी सहित कोई बकाया नहीं का प्रमाण पत्र, फार्म पैन-17, फार्म पैन-1बी, 18, 19, 20, अनुबंध फार्म-1, 2 और 3, पेंशन हकदार की चार सत्यापित फोटो, क्वालीफाईग और नॉन क्वालीफाईंग सेवा सहित सेवा की हिस्ट्री सीट की वैरिफीकेशन और रिपोर्ट, हकदार के हस्ताक्षरों के नमूने, हकदार के कद और पहचान का विवरण, पूर्ण किये गए सभी विवरणों सहित सेवा पुस्तिका, परिवार के सदस्यों के विवरण की सूची, मृत्यु प्रमाण पत्र, अंतिम वेतन प्रमाण पत्र, अतिरिक्त राशि के रिफंड के लिए घोषणा पत्र, अन्य पारिवारिक पेंशन की नॉन रिशिप्ट से सम्बन्धित घोषणा पत्र पेंशनरी लाभ के लिए गणना सीट और विभागीय डाटा सीट पारिवारिक पंेशन मामलों में संलग्न होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि हरियाणा महालेखाकार ने सभी विभागाध्यक्षों और कार्यालय के मुखियाओं को निर्देश दिये हैं कि वे इन दिशा-निर्देशों का पेंशन मामलों में कड़ाई से पालन करें।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment