Thursday, April 2nd, 2020

हमें बहुत गर्व है कि भारत ने इस टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन किया - सहारा इंडिया परिवार

आई.एन.वी.सी,,
दिल्ली,,
सहारा इंडिया परिवार ने भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ियों व सहयोगी स्टाफ को लंदन ओलिम्पक 2012 में क्वालीफाई करने पर 1.12 करोड़ रूपए नगद ईनाम की घो"ाणा की नयी दिल्ली, 28 फ़रवरी 2012 : सहारा इंडिया परिवार एक प्रमुख व्यावसायिक संस्थान व भारत में खेल के मुख्य संरक्षक व प्रमोटर ने भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ियों व सहयोगी स्टाफ को एफआइएच ओलिम्पक क्वालिfire में उनके 'ाानदार प्रदर्शन व लंदन ओिम्पक 2012 में अपनी जगह पक्की करने के लिए 1.12 करोड़ रूपए की घो"ाणा की, जो इन लोगों के बीच बांटी जाएगी। उनके इस उत्कृ"ट प्रदर्शन में श्री सरदार सिंह व श्री संदीप सिंह को 11 लाख रूपए का ईनाम दिया गया है तथा टीम के बाकी सभी खिलाड़ियों को उनके प्रदर्शन के लिए 5 लाख रूपए मिलेंगे। प्रत्येक सहयोगी स्टाफ को भी प्रोत्साहन राि'ा के तहत 1 लाख रूपए मिलेंगे। ज्ञातव्य है कि हाल ही में सहारा इंडिया परिवार ने भारतीय हॉकी के साथ अपने पुराने अनुबन्ध में 170 प्रति'ात की वृद्धि करके नए सिरे से अगले 5 व"ाोzं के लिए रा"ट्रीय पुरू"ा, महिला तथा जूनियर हॉकी टीम के प्रायोजक बने रहने की घो"ाणा की है। इस अवसर पर सहाराश्री सुब्रत रॉय सहारा, managing वर्कर व चैयरman, सहारा इंडिया परिवार ने कहा, ``हमें बहुत गर्व है कि भारत ने इस टूर्नामेंट  में अपना शानदार  प्रदर्शन किया है। हॉकी हमारा रा"ट्रीय खेल है और इसके साथ जुड़े रहने का हमें गर्व है। यह ईनाम हमारी तरफ़ से भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ियों व सहयोगी स्टाफ के उत्साहवर्धक प्रदर्शन के लिए उनकी सराहना का एक छोटा सा टोकन है जिससे कि वे हमारे प्यारे दे'ा के लिए अपने रा"ट्रीय खेल के माध्यम से और अधिक से अधिक ख्याति व सफलता प्राप्त कर सकें। सहारा इंडिया परिवार 2003 से ही भारतीय पुरू"ा व महिला रा"ट्रीय हॉकी टीम (सीनियर और जूनियर) का अधिकृत प्रायोजक है। भारतीय हॉकी टीम के प्रायोजक होने के अतिरिक्त सहारा इंडिया परिवार ने भारतीय हॉकी टीम को लखनऊ में चैिम्पयन्स ट्राफी 2003 के लिए उनके प्रि'ाक्षण ि'ाविर हेतु मेजबानी की। संस्था ने पूरी भारतीय हॉकी टीम के बोर्डing, लॉजing, प्रैक्टिस कैम्प्स और यात्रा का इंतजाम किया था। उल्लेखनीय है कि सहारा इंडिया परिवार ने व"ाz 2004 में फेडरे'ान इंटरने'ानल डी हॉकी (एफआइएच), वि'व की हॉकी की एपेक्स body के साथ हाथ मिलाया और 3 व"ाोzं तक फेडरे'ान का चौथा ग्लोबल पार्टनर बना। सहारा इंडिया परिवार ने पूरी भारतीय हॉकी टीम, जिसमें सभी खिलाड़ी और पदाधिकारी थे, पहली बार एि'ाया कप 2003 जीतने पर सम्मानित किया। प्रत्येक सदस्य को एक रंगारंग कार्यक्रम में ýपए 1,51,000/- का नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। सहारा ने भारतीय हॉकी टीम के सभी खिलाड़ियों, coach और असिस्टेंट coach प्रत्येक को ýपए दो लाख बतौर सम्मान में दिए, साथ ही प्रत्येक का बीमा भी कराया, जब भारत ने व"ाz 2010 के वल्र्ड कप मैच में पाकिस्तान को बुरी तरह से पराजित किया था। रा"ट्रीय हॉकी खिलाड़ियों के वास्तविक हितों के लिए सहारा इंडिया परिवार ने भारतीय हॉकी के खिलाड़ियों को बांटने हेतु ýपए एक करोड़ दिए, जिससे कि वह 'ाान्तिपूर्वक और खु'ाी से दे'ा के लिए व"ाz 2010 में अभ्यास करें और खेल सकें। यह दौर उस समय का था जब खिलाड़ी वल्र्ड कप से पूर्व पुणे के ि'ाविर में अपने पारिश्रमिक के लिए जूझ रहे थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment