आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि हमारे किसी भी निर्णय का लाभ अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को मिलना चाहिए। इसी भावना के साथ आज गांधी जी की जयन्ती के शुभ अवसर पर ’प्रशासन गांवों के संग’ एवं ’प्रशासन शहरों के संग’ अभियान की शुरूआत हुई है। इन अभियानों में लगने वाले शिविरों के माध्यम से अधिकारी प्रदेश के गरीब एवं वचिंत वगोर्ं को राहत प्रदान करें।

श्री गहलोत शनिवार को मुख्यमंत्री निवास से गांधी जयन्ती के अवसर पर दोनों अभियानों के राज्य स्तरीय शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने पांच लाभान्वितों को पट्टे वितरित कर दोनों अभियानों का राज्य स्तर पर आगाज किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने गरीबों को उनके आवासों के पट्टे देकर उन्हें राहत देने का निर्णय किया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि आमजन के सहयोग से ये अभियान सफल होंगे। श्री गहलोत ने गांधी दर्शन म्यूजियम का शिलान्यास एवं महात्मा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ गवनेर्ंस एण्ड सोशल साइंसेज का लोकार्पण भी किया। गांधी दर्शन म्यूजियम सेंट्रल पार्क में बनेगा, जबकि कनक भवन में 1.07 करोड़ की लागत से बने महात्मा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ गवनेर्ंस एण्ड सोशल साइंसेज में गांधीजी से जुड़े शोध कार्य होंगे। महात्मा गांधीजी की शिक्षाओं को आत्मसात करते हुए प्रशासन एवं सामाजिक कार्याें में अपनी भूमिका निभाने के लिए युवाओं को तैयार करने के उद्देश्य से मुम्बई के टाटा इन्स्टीट्यूट ऑफ सोशल साइन्सेज तथा पुणे स्थित इन्स्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एण्ड स्कूल ऑफ गवर्नेंस जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों की तर्ज पर इस इन्स्टीट्यूट की स्थापना की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार जन कल्याणकारी कायोर्ं के प्रति समर्पित है। युवाओं, बेरोजगारों, किसानों तथा पिछड़े एवं वंचित वगोर्ं के लिए पिछले 3 बजट में हमारी सरकार ने कई योजनाओं एवं कार्यक्रमों की घोषणा की है। अगले वर्ष से किसानों के लिए पृथक से बजट पेश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के 31 माह में से करीब 18 महिने कोरोना की चुनौती से निपटने में निकले। हमारी बजट घोषणाओं की पक्ष ही नहीं विपक्ष ने भी जमकर तरीफ की।

श्री गहलोत ने रीट-2021 परीक्षा के आयोजन का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य सरकार के आह्वान पर प्रदेश की जनता ने परीक्षार्थियों के लिए रहने एवं खाने की व्यवस्थाओं में  आगे आकर सहयोग किया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के समय हमारी सरकार के प्रबंधन की देश एवं विदेशों में सराहना हुई है। कोई भूखा नहीं सोए के संकल्प को पूरा करते हुए प्रभावित वगोर्ं के सहयोग में कोई कमी नहीं रखी गई।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को नमन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गांधी जी को दिल से अपनाने वाले उनकी शिक्षाओं और संदेशों को भी आत्मसात करें। गांधी जी के बताए रास्ते पर चलें तो समाज में व्याप्त कई समस्याएं स्वतः ही समाप्त हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि गांधी जयन्ती को पूरा विश्व अंहिसा दिवस के रूप में मनाता है यह हम सभी देशवासियों के लिए गर्व की बात है।

कार्यक्रम की शुरूआत में श्री गहलोत ने गांधी जी के चित्र के समक्ष द्वीप प्रज्वलित कर पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने प्रशासन गांवों के संग एवं शहरों के संग अभियान की मार्गदर्शिका, सर्वोदय विचार परीक्षा से संबंधित ई-बुकलेट तथा भवन विनियम कम्पेडियम का विमोचन भी किया। साथ ही, राजस्थान आवासन मण्डल के मोबाइल एप की लॉन्चिग एवं इंदिरा गांधी शहरी क्रडिट कार्ड योजना के लाभार्थी पंकज शर्मा को कार्ड वितरित किया।

मुख्यमंत्री ने राज्य स्तरीय लॉन्चिंग के बाद श्रीमती कौशल्या देवी एवं श्रीमती पुष्पा देवी को जेडीए का आवासीय पट्टा, श्रीमती जेसी प्रसाद को आवासन मण्डल का, श्रीमती जड़ाव देवी को नगर-निगम ग्रेटर तथा श्रीमती नेहा को नगर-निगम हैरिटेज का पट्टा वितरित किया। अभियान के लोगो डिजाइन के लिए श्वेता सालूंखे एवं उपासना पाण्डे, टैगलाइन के लिए ऋतिक सिंह राठौड़, एक्रोनिंग के लिए मनीष महात्मा एवं लोगो के वृत्ताकार डिजाइन के लिए पूनम शर्मा को प्रमाण-पत्र एवं नकद पुरस्कार से सम्मानित किया।
कार्यक्रम में नगरीय विकास एवं आवासन मंत्री श्री शांति धारीवाल ने कहा कि अभियान में लगने वाले शिविरों में आमजन को अधिक से अधिक राहत देने के लिए नियमों एवं परिपत्रों का सरलीकरण किया गया है। शिविरों में लाभार्थियों को भू-उपयोग के अनुसार अलग-अलग रंग के पट्टे दिये जाएंगे। आवेदन ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरीकों से किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि पहली बार अभियान के दौरान टाउन प्लानर एवं अभियंताओं को नगर मित्र बनाया गया है, जो पट्टा लेने आए आवेदकों को तकनीकी सहायता उपलब्ध कराएंगे।

कला एवं संस्कृति मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने आह्वान किया कि गांधी जी की शिक्षाओं और उनके संदेशों को जीवन में अपनाकर गरीबों एवं दीन-दुखियों की सेवा में अपना जीवन समर्पित कर दें। राजस्व मंत्री श्री हरीश चौधरी ने गांव-ढाणियों में रहने वाले गरीबों को राहत देने के लिए प्रशासन गांवों के संग अभियान चलाने पर मुख्यमंत्री को साधुवाद दिया। उन्होंने कहा कि अधिकारी शिविरों के दौरान अपनी कलम का उपयोग गरीब एवं वंचितों को राहत देने में करें। शिक्षा राज्य मंत्री श्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि वर्तमान सरकार ने पट्टा वितरण का यह संवेदनशील निर्णय लेकर गरीबों को राहत देने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि हर विभाग में उल्लेखनीय कार्य हुए हैं।

मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जिस भावना से यह अभियान शुरू किया गया है, उसके अनुरूप कार्य करते हुए प्रशासन अभियान को सफल बनाने में कोई कमी नहीं रखेगा। प्रमुख शासन सचिव राजस्व श्री आनंद कुमार ने प्रशासन गांवों के संग अभियान में होने वाले कायोर्ं की रूप-रेखा प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान 22 विभागों के विभिन्न तरह के कार्य होंगे। प्रमुख शासन सचिव यूडीएच श्री कुंजीलाल मीणा ने प्रशासन शहरों के संग अभियान की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान पहली बार पुरानी आबादी के फ्री होल्ड पट्टे वितरित होेंगे। इसके अलावा युवाओं को इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना में 50 हजार रूपए तक ब्याज मुक्त ऋण बिना गारंटी के वितरित किया जाएगा।  

इस अवसर पर राज्य मंत्री परिषद के सदस्य एवं विधायकगण भी उपस्थित थे। जिला प्रमुख, प्रधान, महापौर, नगर परिषद एवं पालिका अध्यक्ष, सरपंच, पार्षद, गांधीवादी विचारक तथा अधिकारी-कर्मचारी भी वीसी के माध्यम से जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here