फरसा हाथ में लेकर भाजपा कार्यकर्ता पर की गई टिप्पणी का वीडियो वायरल होने के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सफाई पेश की है। जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीएम को किसी ने फरसा भेंट किया है और हिसार के सांसद बिजेंदर सिंह उन्हें फरसा पकड़ा रहे हैं।

इतने में पीछे से एक व्यक्ति सीएम को अचानक आकर मुकुट पहनाता है और इस घटना पर सीएम कार्यकर्ता को कहते हैं कि तेरी गर्दन काट दूंगा। यह वीडियो वायरल होने के बाद सीएम ने यहां मीडिया के सामने कहा कि सोने-चांदी के मुकुट लेने की संस्कृति कांग्रेस एवं अन्य राजनीतिक दलों की रही है, जिसे हमने बंद किया है। हमें इस प्रकार का कोई आचरण गंवारा नहीं है, जो हमारी संस्कृति से मेल नहीं खाता।
मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि कार्यकर्ताओं को बरगलाने और उनसे सोने-चांदी के मुकुट लेने, माला डलवाने की कांग्रेसियों की परंपरा रही है। हमने सरकार बनने के बाद से ही इस परंपरा को बंद किया है, क्योंकि ऐसा हमारी संस्कृति इजाजत नहीं देती। उन्होंने कहा कि यकायक पार्टी कार्यकर्ता द्वारा उन्हें मुकुट पहनाने की कोशिश की गई थी, जिसका उन्हें आभास नहीं था।

यह क्षण निजी तौर पर असहज करने वाला था, इसलिए इस प्रकार की प्रतिक्रिया दी गई। उन्होंने कहा कि अच्छा है कि कांग्रेस के नेता इस मुददे को उठा रहे हैं, यह मुद्दा उनके गले की फांस बनेगा। उन्होंने यह भी कहा कि मुकुट पहनाने वाला हमारा पुराना कार्यकर्ता है और बाद में उसे भी अहसास हुआ कि उसने जोश में आकर गलती की है और इसके बाद कार्यकर्ता ने मेरी डांट का बुरा भी नहीं माना। PLC.