उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव , आलोक रंजन,alok ranjanआई एन वी सी,
लखनऊ,
उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने कहा है कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान नियमानुसार प्राथमिकता से सुनिश्चित कराया जाय। उन्होंने समस्याओं के समाधान हेतु प्रमुख सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक को नोडल अधिकारी नामित करते हुए निर्देश दिए कि सम्बन्धित विभागों से समन्वय स्थापित कर निर्धारित अवधि में समाधान कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि असाध्य बीमारी ह्रदय, किडनी, लिवर, कैन्सर के इलाज के लिए कैशलेस सुविधा भी सेवानिवृत्त कर्मचारियों को यथाशीघ्र दिलाई जायेगी। उन्होंने कहा कि पेन्शनरों को मात्र नवम्बर माह में ही नहीं बल्कि कैलेण्डर वर्ष में किसी भी माह एक बार जीवित प्रमाण-पत्र प्रस्तुत किये जाने की छूट होगी। उन्होंने कहा कि बीमार एवं अशक्त अधिक आयु वाले पेन्शनरों से जीवित प्रमाण-पत्र लेने ट्रेजरी के स्टाफ को स्वयं जाना होगा। उन्होंने कहा कि वृद्ध सेवानिवृत्त एवं वरिष्ठ नागरिकों हेतु रेलवे एवं रोडवेज टिकट काउन्टर, राजकीय अस्पतालों में पर्चा, दवा वितरण एवं पैथोलोजी काउन्टर तथा बैंकों में भुगतान एवं जमा करने हेतु अलग से काउन्टर स्थापित कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित कराई जाय। उन्होंने कहा कि पेन्शनरों को पेन्शन एवं अन्य आवश्यक जानकारी एवं दस्तावेज आनलाइन उपलब्ध कराने की व्यवस्था तत्काल सुनिश्चित कराई जाय।

मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में सेवानिवृत्त कर्मचारी एवं पेन्शन एसोसिएशन तथा सचिवालय पेन्शनर वेलफेयर के पदाधिकारियों के साथ उनकी माँगों के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पेन्शनरों के राशिकरण का भुगतान दो भागों में होने पर दोनों की कटौती पहले भाग के भुगतान की तिथि से तथा दूसरे भाग की कटौती दूसरे भुगतान की तिथि से ही नियमानुसार कराये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाय। उन्होंने कहा  कि जिलाधिकारी लखनऊ के कार्यालय के समक्ष स्थापित कर्मचारी नेता स्वर्गीय वी0एन0 सिंह की प्रतिमा पर छतरी एवं बैरीकेडिंग लगाने हेतु आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित कराने हेतु परीक्षण कर प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाय।
श्री रंजन ने यह भी निर्देश दिए कि प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित किया जाय कि पेन्शनरों को अपनी नियमानुसार देयकों के लिए अनावश्यक कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़े। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी स्तर पर अनावश्यक सेवानिवृत्त कर्मचारियों केे नियमानुसार देयकों के सम्बन्ध में लापरवाही सिद्ध हुई तो सम्बन्धित अधिकारियों को बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पूरा सम्मान किया जाना चाहिए तथा कोषागार में आने वाले पेन्शनरों के बैठने की अलग से व्यवस्था प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराई जाय।
बैठक में प्रमुख सचिव, नियुक्ति एंव कार्मिक श्री राजीव कुमार, सचिव वित्त श्री अजय अग्रवाल, सचिव एवं स्वास्थ्य श्री संजय प्रसाद, सेवानिवृत्त कर्मचारी एवं पेन्शनर एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री अमरनाथ यादव, वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री वी0एल0 कुशवाहा, महामंत्री श्री बाबूलाल वर्मा सहित अन्य प्रतिनिधित्व उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here