Close X
Saturday, October 16th, 2021

खुद सुरक्षा ही कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बचाव

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर कोविड-19 के संबंध में भ्रामक खबरे फैलायी जा रही है। प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिदिन अधिकारिक जानकारी दी जा रही है। किसी भी सोशल मीडिया के पोस्ट पर यकीन करने से पहले इसकी सत्यता की पुष्टि अवश्य कर ले। प्रतिदिन कोविड-19 से संबधित अपडेट जारी किये जाते है। जो भी कोविड-19 संक्रमण संबंधी जानकारी होगी प्रदेशवासियों को प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी जा रही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में शादी समारोह में बैण्ड व डीजे बजाने पर कोई रोक नहीं है। शादी विवाह के लिए किसी भी प्रकार की अनुमति की आवश्यकता नहीं है। केवल स्थानीय पुलिस थाने में सूचित करना समुचित है। इस समय सभी लोगों को विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। मास्क पहनें, हाथ धोते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग रखें तथा भीड़भाड़ से दूर रहें।
श्री सहगल ने बताया कि आर्थिक गतिविधियां और अधिक तेजी से बढ़ें, इसके लिए प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है। रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए तथा आर्थिक गतिविधियां को और बढ़ाने के लिए सरकार के प्रोत्साहन से नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयां खुल रही है। पुरानी इकाइयों को कार्यशैली पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाईयों को रू0 10,854 करोड़ के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत कर वितरित किये जा रहे हैं। प्रदेश में रोजगार के नये अवसर उपलब्ध कराने के लिए 6.46 लाख नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांें को 19,550 करोड़ रूपये का ऋण दिया गया है। उन्होंने बताया कि नई एमएसएमई इकाईयों से लगभग 25 लाख लोगों को रोजगार मिला है। रोजगार के और अधिक अवसर पैदा हों विशेषकर छोटे और लघु उद्योगों के माध्यम से रोजगार के अवसर सृजित कर लोगों को नौकरी उपलब्ध करायी जायेगा।
श्री सहगल ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर निरन्तर धान खरीद की समीक्षा की जा रही है। इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों के धान की खरीद समय से हो तथा उन्हें धान व मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले। धान और मक्का की खरीद का भुगतान 72 घंटे के अन्दर सुनिश्चित किया जाये। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जिलाधिकारी की यह जिम्मेदारी है कि किसानों को किसी प्रकार की समस्या न होे तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करे। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की अधिकारियो/कर्मचारियों द्वारा लापरवाही बरती जाती है तो उनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। धान क्रय केन्द्र पर शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी। धान क्रय केन्द्रांे पर जिलाधिकारी द्वारा निरन्तर अनुश्रवण तथा आकस्मिक निरीक्षण करे। किसानों से निरन्तर धान की खरीद की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक किसानों से 179.52 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है, जो पिछले वर्ष से डेढ़ गुना से भी अधिक है। उन्होंने बताया कि अब तक किसानों से 1,80,791.50 कु0 मक्का की खरीद की जा चुकी है। जो गत वर्षों से काफी अधिक है।
प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,65,551 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,86,36,313 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2237 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 25,422 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। होम आइसोलेशन में 12,443 लोग हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 2195 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त बाकी मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे हंै। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक कुल 5,02,353 लोग कोविड-19 से ठीक होकर पूर्ण उपचारित हो चुके हैं।
  श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 4,66,018 टीम दिवस के माध्यम से 2,94,22,268 घरों के 14,38,85,835 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि चिकित्सकीय उपचार के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया है। ई-संजीवनी के माध्यम से 2981 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। अब तक कुल 2,29,163 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श लिया। उन्होंने बताया कि सरकारी संस्थान, प्रमुख कार्यालय, प्रतिष्ठान, औद्योगिक इकाईयों में 65,448 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये गये। इसके माध्यम से 1,00,622 व्यक्तियों में लक्षणात्मक चिन्हांकन किया गया। उन्होंने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने कोविड-19 की मेडिकल टेस्टिंग के कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश दिये है। जिसमें से 40 प्रतिशत टेस्ट आर0टी0पी0सी0आर0 के माध्यम से तथा शेष 60 प्रतिशत टेस्ट रेपिड एन्टीजन के माध्यम से किये गये है। उन्होंने बताया है कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने आई0सी0यू0 बेड की संख्या को और बढ़ाने के निर्देश दिये है।
श्री प्रसाद ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि सभी जनपदों में इन्ट्रीगे्रटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्साधिकारी इन्ट्रीगे्रटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर में प्रतिदिन अनिवार्य रूप से समीक्षा बैठक करने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने बताया कि सितम्बर माह के महीने में एक एक्साइज 11 जनपदों में सिरों सर्विलांस की गयी थी। जिसमें जिन जिलों में ज्यादा संक्रमण था वहां सिरो सर्विलांस किया गया था, ऐसे जनपद जिनमें आगरा, बागपत, गोरखपुर, गाजियाबाद, कानपुर नगर, लखनऊ, कौशाम्बी, मेरठ, मुरादाबाद, प्रयागराज तथा वाराणसी में 16 हजार से अधिक ब्लड सैम्पल लेकर उसकी जांच के0जी0एम0यू0, लखनऊ द्वारा जांच करायी गयी थी, कि कितने लोगों में एन्टीबाॅडी पायी जा रही है। उन्होंने कहा कि बचाव से ही कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि विशेषकर बच्चे, बुजुर्ग, महिलाएं तथा बीमार व्यक्तियों को संक्रमण से दूर रखकर कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बचाया जा सकता है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment