दुबई । हज यात्रा को लेकर दुनियाभर में चल रही अटकलों को खत्‍म करते हुए सऊदी अरब ने ऐलान किया है कि इस साल ‘बहुत सीमित संख्‍या’ में मुस्लिमों को हज करने की अनुमति दी जाएगी। सभी हज यात्री सऊदी अरब में रह रहे लोग ही होंगे। अंतरराष्‍ट्रीय हज यात्रियों को अनुमति नहीं दी जाएगी। आमतौर पर दुनियाभर से हर साल हज यात्रा पर 20 लाख लोग शामिल होते हैं। इससे पहले ऐसी अटकलें चल रही थीं कि इस साल सऊदी अरब हज यात्रा को मंजूरी देगा या प्रतीक के तौर पर बहुत कम लोग हज करेंगे।
यह अभी तक स्‍पष्‍ट नहीं है कि क्‍यों सऊदी अरब सरकार ने हज यात्रा से मात्र 5 सप्‍ताह पहले यह फैसला लिया है। माना जा रहा है कि दुनियाभर के मुस्लिमों की भावनाओं को देखते हुए सऊदी अरब सरकार ने यह फैसला इतनी देरी से लिया है। सऊदी अरब ने अपनी स्‍थापना के 90 साल के अंदर कभी भी हज यात्रा को रद्द नहीं किया है। सऊदी अरब के शाह का परिवार कई पीढ़ि‍यों से मक्‍का में आयोजित होने वाली हज यात्रा का संरक्षक है।
सऊदी सरकार ने कहा कि उसका बहुत कम लोगों के साथ हज यात्रा कराने का फैसला कोरोना वायरस की वजह से है। सरकार ने कहा यह फैसला जन स्‍वास्‍थ्‍य को देखते हुए हज को सुरक्षित तरीके से कराने के लिए लिया गया है। सऊदी सरकार ने कहा है कि केवल सऊदी अरब में रह रहे दुनियाभर के लोगों को ही इस साल हज यात्रा की अनुमति दी जाएगी। हज यात्रा जुलाई से शुरू होने जा रही है। सरकार ने अभी यह नहीं बताया है कि कितने लोगों को हज यात्रा की अनुमति दी जाएगी।
सऊदी प्रशासन इस साल बुजुर्ग हज यात्रियों पर प्रतिबंध और गंभीर स्वास्थ्य जांच सहित कई तरह के अन्य प्रतिबंधों पर भी विचार कर रहा है। सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था में हज और उमराह से होने वाली आमदनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। माना जा रहा है कि इस साल हज को स्थगित करने से सऊदी की अर्थव्यवस्था को तगड़ी चोट लगेगी। PLC.
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here