Saturday, April 4th, 2020

सीजेएम ने पूर्व सुप्रीम जज मामले में पुलिस से रिपोर्ट मांगी

Dr Nutan Thakur, Petitionerआई एन वी सी,

लखनऊ,

अशोक कुमार सिंह षष्ठम, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी, लखनऊ ने सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा पूर्व सुप्रीम कोर्ट जज के विरुद्ध दो विधि स्नातकों द्वारा अपने पद और स्थिति का पूर्णतया नाजायज़ फायदा उठाते हुए यौन उत्पीडन करने के आरोपों के सम्बन्ध में प्रस्तुत प्रार्थनापत्र पर आज थानाध्यक्ष गोमतीनगर, लखनऊ से आख्या मंगवाई है. उन्होंने एसओ को सुनवाई की अगली तिथि 27 नवम्बर तक आख्या देने के आदेश दिए हैं.

डॉ ठाकुर ने गोमतीनगर थाने को एफआइआर दिया था और उनके द्वारा मना करने पर एसएसपी लखनऊ और अंत में सीजेएम को प्रार्थनापत्र दिया.

एफआइआर के अनुसार एक सामाजिक कार्यकर्ता और नेशनल ला यूनिवर्सिटी में अध्ययन कर रही विधि छात्रा की माँ के रूप में वह यह अपना दायित्व समझती हैं कि इस प्रकार का आरोप लगने वाले लोगों के इन कथित घिनौने कृत्यों के सम्बन्ध में एफआइआर दर्ज कराएं ताकि इसमें आगे कानूनी कार्यवाही हो सके. अतः उन्होंने सुप्रीम कोर्ट द्वारा ललिता कुमारी बनाम उत्तर प्रदेश शासन एवंअन्य में हाल में दिए गए निर्णय, जिसमे एफआइआर दर्ज किया जाना अनिवार्य बताया गया है, के अनुसार एफआइआर दर्ज करने की मांग की थी.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment