Sunday, May 31st, 2020

सार्वजनिक पुस्तकालयों में पुस्तकों की खरीद व्यवस्था को पारर्दशी बनाएं : वासुदेव देवनानी

vasudev devnani ministerआई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
शिक्षा राज्य मंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने भाषा एवं पुस्तकालय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि प्रदेश के सार्वजनिक पुस्तकालयों में पुस्तकों की खरीद की व्यवस्था को पारदर्शी बनाया जाए। उन्होंने प्रदेश के सार्वजनिक पुस्तकालयों का विभागीय अधिकारियों को नियमित निरीक्षण करने के निर्देश दिए तथा कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी सार्वजनिक पुस्तकालय समय पर खुले और वहां पर लोग आएं। श्री देवनानी आज यहां शासन सचिवालय में भाषा एवं पुस्तकालय विभाग की समीक्षा बैठक में संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि प्रदेश के उन 12 स्थानों पर जहां सार्वजनिक पुस्तकालय नहीं है, वहां भवन की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के लिए भी अधिकारी त्वरित कार्य करें। उन्होंने सार्वजनिक पुस्तकालयों के भवनों की मरम्मत और वहां आवश्यक व्यवस्थाएं भी सुनिश्चित किए जाने पर जोर दिया। शिक्षा राज्य मंत्री ने सार्वजनिक पुस्तकालयों से अधिकाधिक लोगों को जोडऩे के लिए सतत् प्रयास किए जाने पर भी जोर दिया। उन्होंने महत्वर्पूण पुरानी पुस्तकों का डिजिटिलाईजेशन करने के लिए भी प्रभावी प्रयास किए जाने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारी प्रदेश के सार्वजनिक पुस्तकालयों का समयबद्घ निरीक्षण करें। उन्होंने पुस्तकालयों के वाचनालयों को भी व्यवस्थित करने, प्रतियोगी परीक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए उनमें उपयोगी संर्दभ सामग्री उपलब्ध कराने के लिए भी कार्य करने की विभागीय अधिकारियों को हिदायत दी। शिक्षा राज्यमंत्री ने कहा कि पुस्तकें व्यक्ति के लिए ज्ञान के द्वार खोलती हैं। सर्वांगीण विकास के लिए यह जरूरी है कि आमजन में पढऩे की प्रवृति का विकास किया जाये। इस संबंध में उन्होंने राज्य के सार्वजनिक पुस्तकालयों का बेहतरीन रूप में विकास किये जाने पर जोर दिया है। प्रदेश के र्सावजनिक पुस्तकालयों में गुणवत्ता की पुस्तकें पाठकों को उपलब्ध कराने के संबंध में भी श्री देवनानी ने विभागीय अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि पुस्तकों का चयन अच्छे व उपयोगी साहित्य के आधार पर प्राथमिकता से किया जाये। उन्होंने भाषा एवं पुस्तकालय विभाग की विभिन्न गतिविधियों के बारे में भी अधिकारियों से जानकारी ली। बैठक में भाषा एवं पुस्तकालय विभाग की निदेशक श्रीमती चित्रा गुप्ता सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment