Close X
Saturday, October 16th, 2021

सर्वाधिक सुरक्षा वैक्सीनेशन से ही संभव

आई एन वी सी न्यूज़

भोपाल,
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 27 सितंबर को अब कोई न छूटे कोरोना टीकाकरण महाअभियान-4 में सभी पात्र नागरिकों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जाएगी। इस अभियान में अब कोई न छूटे, इस भाव से समाज के सभी वर्गों और व्यक्तियों की स्व-प्रेरणा से सक्रिय भागीदारी रहेगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन की प्रथम डोज शत-प्रतिशत पात्र लोगों को लगाकर प्रदेश को सुरक्षित बनाना है। उन्होंने वैक्सीनेशन के पुनीत कार्य में साथ आकर अभियान को सफल बनाने में सहयोग करने की अपील की है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीन की नि:शुल्क उपलब्धता करवा कर पुण्य का काम किया है। अब हम सबका दायित्व है कि सभी पात्र लोग वैक्सीन अनिवार्य रूप से लगवाएँ। अभी तक वैक्सीनेशन की उपलब्धियों के लिए जन-भागीदारी रेखांकित हुई है। जिला, विकासखंड, वार्ड और ग्राम पंचायत स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों ने भी सक्रिय भागीदारी निभाकर पिछले टीकाकरण महा-अभियानों को सफलता दिलाई है। 27 सितंबर को टीकाकरण महा-अभियान-4 में भी क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों और सामाजिक संस्थाओं की सहभागिता से सफलता अवश्य प्राप्त होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्रिपरिषद के सदस्य, सांसद, विधायक, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के जन-प्रतिनिधियों सहित विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के प्रमुखों, धर्मगुरुओं, मीडिया प्रतिनिधियों, साहित्यकारों, बुद्धिजीवियों और गणमान्य नागरिकों से अपील की है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में जनता से वैक्सीन का प्रथम डोज लगवाने की अपील करें, उन्हें प्रेरित करें, जिससे अभियान के उद्देश्यों को प्राप्त कर प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को सुरक्षित बनाया जा सके।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि डॉक्टरों और वैज्ञानिकों का मत है कोरोना से सर्वाधिक सुरक्षा वैक्सीनेशन से ही संभव है। प्रदेश में वैक्सीनेशन का पहला डोज करीब 84% आबादी को लग चुका है। यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। इसके परिणामस्वरूप ही हम प्रदेशवासियों में कोरोना संक्रमण की स्थिति को रोकने में सफल हो पाए हैं। हम कोरोना की तीसरी लहर को किसी भी स्थिति में नहीं आने देंगे।

अब कोई भी न छूटे टीकाकरण महाअभियान-4 के लिए व्यापक तैयारी
अब कोई भी न छूटे टीकाकरण महा-अभियान को सफल बनाने के लिए राज्य शासन द्वारा व्यापक तैयारी की गई है। जिला और ब्लॉक स्तर पर संचालित दीनदयाल अंत्योदय योजना, जन-अभियान परिषद, सामाजिक, स्वयंसेवी संस्थाओं के स्वयंसेवकों, समाज के प्रत्येक वर्ग के प्रमुख व्यक्तियों और शासकीय अमले द्वारा पात्र नागरिकों को प्रथम डोज लगवाने के लिए उन्हें टीकाकरण स्थल तक लाने में सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। टीकाकरण स्थल पर भी जन-सुविधाएँ उपलब्ध रहेंगी और उत्सवी माहौल के बीच शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने का पूरा प्रयास किया जाएगा। टीकाकरण महाअभियान-4 में 18 वर्ष से अधिक आयु का कोई भी पात्र व्यक्ति कोविड टीके की पहली डोज से छूटा नहीं है। यह जानकारी सभी जिलों के कलेक्टर और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा निर्धारित प्रपत्र में राज्य शासन को दी जाएगी। राज्य शासन द्वारा अभियान की सफलता के लिए सभी पात्र व्यक्तियों की सूची अनुसार डोर-टू-डोर सर्वे कर कोविड टीके की पहली डोज लगाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए थे।

टीकाकरण महाअभियान-4 में प्रदेश में करीब 10 हजार सत्र आयोजित होंगे। हर जिले में जिला प्रशासन द्वारा टीकाकरण के लिये मोबाइल टीमों का गठन भी किया गया है। अब एक ही लक्ष्य है कि कोरोना वैक्सीन की पहली डोज सभी पात्र नागरिकों को लग जाये। अब कोई न छूटे। वैक्सीनेशन सेंटर तक आने के लिये प्रशासन द्वारा वाहनों की व्यवस्था भी की जाएगी। जो बुजुर्ग और दिव्यांग टीकाकरण सेंटर तक नहीं आ सकते, उनके घर जाकर टीकाकरण किया जायेगा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment