Wednesday, January 22nd, 2020

सरना द्वारा लगाये गये आरोप निराधार एवं हास्यास्पद

आई एन वी सी न्यूज़
नई दिल्ली,
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मुख्य सलाहकार कुलवंत सिंह बाठ ने प्रेस रिलीज जारी करते हुए कहा कि सरना भाईयों द्वारा दिल्ली कमेटी को फिर से बदनाम करने के लिए मनगढ़त एवं बेबुनियाद आरोप लगाने से एक बात स्पष्ट होती है कि सरना भाई अपने सियासी अस्तित्व के समाप्त होने के कारण अति निराशा मंे जा चुके हैं, क्यांेकि इस समय ना तो दिल्ली की सिक्ख संगत का उन्हें कोई सहयोग है और न ही कमेटी मंे उनकी पार्टी के एक या दो से अधिक सदस्यों की भागीदारी है। सरना भाई अब सिक्ख राजनीति में शंट लाईन के नेता होने के कारण अपना पुनः आधार बनाने के लिए छटपटा रहे हैं। इन्होंने पहले दिल्ली कमेटी मंे ए.सी. घोटाला होने के बेबुनियाद आरोप लगाये थे परन्तु चुनौती देने के बावजूद भी वे एक बार भी वापस नहीं आये। अब उनका ताजा एवं बेबुनियाद आरोप सिर्फ अखबारों मंे सुर्खिया बटोरने के प्रपंच मात्र ही हैं। इनका राजनीतिक स्तर इतना नीचा हो चुका है कि कोई भी छोटा या बड़ा पंजाबी चैनल इनकी खबर नहीं लगाता। जो इन्होंने प्रैस कांफ्रैंस कर टैंट संबंधी झूठे आरोप लगाये गये है। हमलोग फिर से इनके 2 बचे हुए सदस्यों को खुला निमंत्रण देते हैं कि वे दिल्ली कमेटी के दफ्तर आकर इस संबंधी बिल देखें कि कौन सा बिल गलत बना हुआ है। स. बाठ ने कहा कि दिल्ली कमेटी द्वारा प्रोग्रामों के दौरान टैंटों वालों द्वारा जो भी काम किये गये हैं उसकी लिस्ट साथ लगाकर मीडिया को भेज रहा हूं एवं जो इस काम की अन्तिम पेमेंट करने संबंधी रेट हैं उन पर स. मनजीत सिंह जी.के. अध्यक्ष द्वारा स्वयं रेट तय कर रकम रिलीज करने का आदेश दिया गया है। स. बाठ ने कहा कि दिल्ली कमेटी द्वारा ठंड के मौसम दौरान गरीब, बेआसरों एवं बेघरों के लिए आपातकालीन रैन बसेरे की व्यवस्था की गई थी एवं लगभग यह सेवा 15 दिन तक चली जिसने सभी राष्ट्रीय मीडिया की सुर्खियां प्राप्त की। क्या सरना भाई बतायेंगे कि गरीब एवं बेआसरों की सेवा करना क्या गुनाह है? स. बाठ ने कहा कि सरना भाईयों ने अपने कार्यकाल के दौरान सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने एवं अध्यक्ष के पद पर विराजमान रहने के लिए अपने सदस्यों को खुली लूट एवं स्कूलों काॅलेजों मंे नजायज एवं अनावश्यक भर्ती करने की खुली छूट दे रखी थी। जिसका भुगतान बीते 6 वर्षो से हमें करना पड़ रहा है। स. बाठ ने कहा कि दोनों सरना भाईयों की प्रैस कांफ्रैंस की वीडियो देख कर ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे कोई नौटंकीबाज बैठे हुए हैं एवं अपनी पार्टी के बचे 2-3 सदस्यों के साथ यह तय कर रहें हैं कि दिल्ली के सिक्खांे की सर्वोच्च संस्था दिल्ली कमेटी के अगले अध्यक्ष एवं महासचिव कौन होंगे। इससे पता चलता है कि वे उम्रदराज हो गये हैं एवं अब वे सिर्फ अपने दोहतरे-पौत्रों को ही खेला सकते हैं।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment