Close X
Thursday, February 25th, 2021

सरकार को किसानों से माफी मांगते हुए फौरन तीनों कानूनों को वापस लेना चाहिए

कृषि कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विपक्ष पर हमला बोलने के बाद कांग्रेस ने पलटवार किया है। पार्टी का कहना है कि सरकार किसानों को थका दो और भगा दो की नीति पर काम कर रही है। पार्टी का आरोप है कि मोदी सरकार किसानों की समस्याओं को हल करने को लेकर कतई गंभीर नहीं है। प्रधानमंत्री के किसान सम्मान निधि की किश्त किसानों के खाते में भेजने के बाद प्रतिक्रिया देते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सरकार झूठ पर झूठ बोल रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री सिर्फ टीवी पर सफाई दे रहे हैं और उनके मंत्री पत्र लिख रहे हैं। ऐसा लगता है कि सरकार किसानों की समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है। वह उनकी समस्याओं को हल करना नहीं चाहती। किसान सम्मान निधि का जिक्र करते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कृषि जनगणना 2015-16 के मुताबिक देश मे 14.64 करोड़ किसान हैं। पर सरकार किसान सम्मान निधि का लाभ सिर्फ 9 करोड़ किसानों को दे रही है। ऐसे में सरकार ने पांच करोड़ देश के किसानों को इससे अछूता क्यों रखा हुआ है। इतना ही नहीं वर्ष 2014 में सत्ता में आते ही मोदी सरकार ने फसल पर बोनस बंद कर दिया। सरकार ने शीर्ष अदालत में हलफनामा दाखिल कर कहा कि किसानों को लागत पर 50 फीसदी मुनाफा नहीं दिया जा सकता। इसके साथ सरकार यह ऐलान कर चुकी है कि वह किसानों का कर्जा माफ नहीं करेगी। सुरजेवाला ने कहा कि अब बहानेबाजी और इवेंट मैनेजमेंट नहीं चलेगा। सरकार को किसानों से माफी मांगते हुए फौरन तीनों कानूनों को वापस लेना चाहिए।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment