Close X
Friday, October 23rd, 2020

सरकार कोविड-19 के खिलाफ पूरी तत्परता से लड़ाई लड़ रही

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ ,
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि प्रदेश में अब तक 01 करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट हो गए हैं, जो एक रिकाॅर्ड है। उन्हांेने कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए डोर-टू-डोर सर्वे, सर्विलांस तथा मेडिकल टेस्टिंग की कार्यवाही को पूरी तेजी से संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि प्रदेश सरकार कोविड-19 के खिलाफ पूरी तत्परता से लड़ाई लड़ रही है। उन्होंने कहा है कि कोरोना के प्रसार को नियंत्रित करने तथा रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध कराने में इंटीगे्रटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी जनपदों में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर पूरी सक्रियता से कार्यशील रहें।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से जनपद स्तर पर संवाद के साथ-साथ सी0एम0 हेल्प लाइन के माध्यम से भी संवाद स्थापित रखा जाए। उन्होंने स्वच्छता तथा सेनिटाइजेशन के कार्यों को लगातार जारी रखने के निर्देश भी दिए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि सर्विलांस कार्यों की निरन्तर माॅनिटरिंग की जाए। यह कार्य अत्यन्त महत्वपूर्ण है, इसलिए सुनिश्चित किया जाए कि सर्विलांस गतिविधियों में किसी भी स्तर पर लापरवाही न होने पाए। उन्होंने कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश देते हुए कहा कि कोविड चिकित्सालयों में दवाओं तथा आॅक्सीजन की बैकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखी जाए। कोविड चिकित्सालयों मंे आवश्यकतानुसार अतिरिक्त मैनपावर की व्यवस्था की जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आगामी 01 अक्टूबर से प्रदेश में एम0एस0पी0 के तहत धान की खरीद प्रारम्भ होगी। धान क्रय केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं, ताकि किसानों को कोई असुविधा न हो। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि धान क्रय केन्द्रों को तीन हजार से बढ़ाकर चार हजार किया जाए। उन्होंने कहा कि गौ आश्रय स्थलों की व्यवस्थाएं बेहतर बनाई जाएं। ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय तथा ग्राम सचिवालय का कार्य युद्ध स्तर पर किया जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद मीरजापुर, भदोही, शामली, बरेली, अमेठी तथा सन्त कबीर नगर के 06 एल-2 कोविड चिकित्सालयों का वर्चुअल लोकार्पण किया। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि प्रदेश में एक करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट भी आज सम्पन्न हुए हैं, यह एक रिकाॅर्ड है। प्रत्येक जनपद में एल-01 चिकित्सालय की श्रृंखला, एल-2 डेडिकेटेड कोविड चिकित्सालय की स्थापना और उच्च चिकित्सा संस्थान व मेडिकल काॅलेजों में एल-3 कोविड चिकित्सालय के निर्माण को तेजी से बढ़ाने का काम किया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोविड-19 की पाॅजिटिविटी दर और मृत्यु दर को नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त की। साथ ही, रिकवरी रेट को बेहतर करके आम जनमानस में विश्वास पैदा किया है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि यह सब प्रदेश में टीम वर्क से सम्भव हुआ। इस टीम वर्क का ही परिणाम है कि आज हम 06 एल-2 कोविड चिकित्सालय प्रदेशवासियों की सेवा में समर्पित कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि पहले प्रदेश में 36 ऐसे जिले थे, जहां वेंटिलेटर या एच0एफ0एन0सी0 की कोई सुविधा नहीं थी। आज सभी 75 जनपदों में वेंटिलेटर और एच0एफ0एन0सी0 की सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि हमारे सामने चुनौतियां थीं। प्रदेश की 24 करोड़ आबादी को कोविड-19 के संक्रमण से बचाने के साथ ही टेस्टिंग क्षमता को विकसित करने की। जिस प्रदेश में टेस्टिंग की कोई क्षमता न रही हो, उस प्रदेश द्वारा आज डेढ़ लाख टेस्ट प्रतिदिन किये जाने की क्षमता का विकास यह दर्शाता है कि कोविड-19 हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर पर राज्य सरकार पूरी गम्भीरता से कार्य कर रही है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने वर्चुअल माध्यम से जुड़े जनपदों के जनप्रतिनिधियों/अधिकारियों से अपील की कि हमें हर हाल में संक्रमण को रोकना व सतर्क रहकर चेन को तोड़ना होगा, ताकि प्रत्येक नागरिक को सुरक्षित रख सकें। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के उपचार का सबसे अच्छा तरीका बचाव है। सतर्कता ही इससे बचाव का सबसे बड़ा माध्यम है। सतर्कता के लिए प्रधानमंत्री जी द्वारा दिये गये मूलमंत्र ‘दो गज की दूरी मास्क है जरूरी’ का पालन करना अत्यन्त आवश्यक है। एल-2 और एल-3 कोविड अस्पतालों में आई0सी0यू0 की भी व्यवस्था की गयी है।
श्री अवस्थी ने बताया कि जनपद मीरजापुर के ट्राॅमा सेण्टर को पूर्णरूप से सुसज्जित  एल-2 कोविड चिकित्सालय के रूप में विकसित किया गया है। इसमें 50 शैय्याओं की सुविधा है, जिसमें 23 आई0सी0यू0 बेड, 18 वेंटिलेटर, 05 एच0एफ0एन0सी0 तथा ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है। इस चिकित्सालय में 01 निश्चेतक, 01 फिजीशियन, 03 एम0बी0बी0एस0 चिकित्सक तथा 15 अन्य पैरामेडिकल स्टाफ किये गये है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जनपद भदोही औरई ट्राॅमा सेण्टर को पूर्णतः सुसज्जित कोविड चिकित्सालय के रूप में विकसित किया गया है। इसमें 100 शैय्या उपलब्ध है, जिसमें 15 आई0सी0यू0 बेड, 12 वेंटिलेटर, 03 एच0एफ0एन0सी0 उपलब्ध है। इस चिकित्सालय में 02 निश्चेतक, 02 फिजीशियन, 03 एम0बी0बी0एस0 चिकित्सक तथा 11 अन्य पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि जनपद शामली में जिला संयुक्त चिकित्सालय को कोविड चिकित्सालय के रूप में विकसित किया गया है। इसमें 100 शैय्या उपलब्ध है, जिसमें 20 आई0सी0यू0 बेड, 14 वेंटिलेटर तथा 01 वाईपेप उपलब्ध है। इस चिकित्सालय में 02 निश्चेतक, 01 फिजीशियन, 01 बाल रोग विशेषज्ञ एम0बी0बी0एस0 चिकित्सक तथा 11 अन्य पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जनपद बरेली में 300 बेडेड चिकित्सालय को कोविड चिकित्सालय के रूप में विकसित किया गया है। इसमें एल-2 के लिए 136 शैय्या उपलब्ध है, जिसमें 19 आई0सी0यू0 बेड, 14 वेंटिलेटर तथा 05 एच0एफ0एन0सी0 उपलब्ध है। इस चिकित्सालय में 02 निश्चेतक, 02 फिजीशियन, 11 एम0बी0बी0एस0 चिकित्सक तथा 35 अन्य पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि जनपद अमेठी में मलिक मोहम्मद जायसी संयुक्त जिला चिकित्सालय को एल-2 कोविड चिकित्सालय के रूप में विकसित किया गया है। इसमें एल-2 के लिए 102 शैय्या उपलब्ध है, जिसमें 12 आई0सी0यू0 बेड, 10 वेंटिलेटर तथा 02 एच0एफ0एन0सी0 उपलब्ध है। इस चिकित्सालय में 05 निश्चेतक, 03 फिजीशियन, 03 एम0बी0बी0एस0 चिकित्सक तथा 18 अन्य पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जनपद सन्त कबीर नगर में एम0सी0एच0 विंग को एल-2 कोविड चिकित्सालय के रूप में विकसित किया गया है। इसमें एल-2 के लिए 50 शैय्या उपलब्ध हंै, जिसमें 14 आई0सी0यू0 बेड, 11 वेंटिलेटर तथा 03 एच0एफ0एन0सी0 उपलब्ध हंै। इस चिकित्सालय में 03 निश्चेतक, 02 फिजीशियन, 02 बाल रोग विशेषज्ञ तथा 01 एम0बी0बी0एस0 चिकित्सक तथा 23 अन्य पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध हैं।
श्री अवस्थी ने बताया कि इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में प्रदेश मंे आमजन को गुणवत्तापरक चिकित्सीय सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं।
श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग द्वारा धारा-188 के तहत 2,31,464 एफआईआर दर्ज करते हुये 4,36,731 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,68,12,881 वाहनांे की सघन चेकिंग में 74,871 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 87,82,18,626 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,40,124 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1260 लोगों के खिलाफ 932 एफआईआर दर्ज करते हुए 452 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के अन्तर्गत 2655  मामलों को संज्ञान में लेते हुए अभी तक कुल 105 एफआईआर पंजीकृत करायी गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 17,601 कन्टेनमेंट जोन के 1,199 थानान्तर्गत, 12,74,555 मकानों के 70,89,954 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 47,117 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कन्टोमेन्ट जोन की संख्या में कमी आई है। उन्होंने बताया कि परिवहन विभाग द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार कल 7747 बसों के माध्यम से 11 लाख 09 हजार लोगों ने यात्रा की। हवाई जहाज से 1848 लोगों ने तथा 203 टेªेनों के माध्यम से 69,880 लोगों ने यात्रा की।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में अब तक का सर्वाधिक कुल 1,61,058 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,00,98,896 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटंे में कोरोना के संक्रमित 4,271 नये मामले आये है। प्रदेश में अब तक कुल 3,42,415 लोग पूर्णतया उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 5434 लोग उपचारित हुए। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत अब बढ़कर 85.80 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 50,883 कोरोना के एक्टिव मामले है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक्टिव केसों में 25 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 24,026 लोग हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 3727 लोग तथा सेमी पेड एल-1 प्लस में 106 लोग ईलाज करा रहे है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,26,307 क्षेत्रों में 3,52,340 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,56,14,674 घरों के 12,70,21,140 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सरकारी कार्यालयों एवं महत्वपूर्ण संस्थानों में 64,589 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जा चुके है। इनके माध्यम से 8 लाख से अधिक लोगों का लक्षणात्मक चिन्हांकन किया गया है। प्रदेश में पूल टेस्ट के अन्तर्गत कल 4002 पूल की जांच की गयी, जिसमें 3562 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 440 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से कल 2650 लोगों ने घर बैठे चिकित्सकीय सलाह प्राप्त की। अब तक कुल ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से 1,08,223 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि कोरोना पाॅजिटिव पाये गये लोगों में 0-20 आयु वर्ग के 13.77 प्रतिशत, 21-40 आयु वर्ग के 47.92 प्रतिशत, 41-60 आयु वर्ग के 29.02 प्रतिशत और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 9.29 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि कुल संक्रमित लोगों में 68.50 प्रतिशत पुरूष तथा 31.50 प्रतिशत महिलाएं है। 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment