आई.एन.वी.सी,,

लखनऊ,,

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव ने आज यहां कहा कि मैं जनता के साथ हूॅ और आप सब के बीच ही रहूॅगा। सरकार पर हम मिलकर नियंत्रण रखेगें। वे स्वयं समाजवादी पार्टी की सरकार के कामकाज पर कड़ी निगाह रखेगें और यदि किसी मंत्री का भ्रष्टाचार पकड़ा गया तो उसे तत्काल बर्खास्त करा देगंे। वे पार्टी के चुनाव घोषणा पत्र पर अमल चाहेगें और इस सम्बन्ध में कितना भी कोई प्रभावशाली मंत्र.ी हो उससे बात करेगें। ऐसी व्यवस्था करेंगें कि जनता का काम सुविधाजनक ढंग से हो जाए। किसी को बार-बार लखनऊ न दौड़ना पड़े।

श्री यादव आज समाजवादी पार्टी मुख्यालय में एकत्र सैकड़ों कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। इस मौके पर वरिष्ठ मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव, श्री
ओमप्रकाश सिंह तथा प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चैधरी भी मौजूद थे। समाजवादी पार्टी कानून व्यवस्था और विकास पर ध्यान देकर एक बेहतर सरकार चला सकती हंै। हमें अपने प्रदेंश की आदर्श छवि बनानी है। हमारी सरकार पारदर्शी और जवाबदेह होगी।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं को बहुमत की सरकार बनाने के लिए कठिन परिश्रम करने पर बधाई दी और कहा कि यद्यपि बसपा सरकार ने हमारे कार्यकर्ताओं को बहुत अपमानित किया, हजारों को जेल भेजा, तमाम लोगों पर फर्जी केस लगा दिए फिर भी एक भी कार्यकर्ता झुका नहीं। अन्याय के खिलाफ समाजवादी पार्टी की लड़ाई में कार्यकर्ताओं के हाथ पैर टूटे, सिर फटा, लाठी-गोली चली। जनता इसे देख रही थी कि आप उसके लिए लड़ रहे थे। इसलिए समाजवादी पार्टी की बहुमत की सरकार बन सकी।

श्री यादव ने कहा कि हमारे सामने आज गम्भीर चुनौतियां भी हैं और जिम्मेदारियां भी। हमें अपना चुनाव घोषणा पत्र लागू करना है। गुण्डागर्दी कतई
बर्दाश्त नहीं होगी। सबके प्रति न्याय होगा। उन्होने कहा यह समाजवादी पार्टी की ही सरकार नहीं है, पूरे प्रदेश की जनता की सरकार है। सरकार का काम जनता को सुविधाएं देना है, अत्याचार करना नहीं।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि आगामी लोकसभा के चुनाव बड़ी चुनौती है। जनता अब विधान सभा चुनाव की तरह के परिणाम देखना चाहती है। हमें उसके विश्वास का मान रखना है। उन्होने दिल्ली पर कब्जे के लिए लोकसभा की 80 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है।

श्री मुलायम सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं को धीरज और संयम के साथ आचरण करने की नसीहत देते हुए कहा कि वे अब अपने क्षेत्रों में जाएं और जनता के बीच काम करें। जिसने मतदान नहीं किया उसे धमकी नहीं देना हैं, रूठे हुए को मनाना है। बदले की भावना से काम नहीं करना है। जनता की समस्याएं हल करने में रूचि लें। उन्होने कहा कि अधिकारियों के साथ नम्रता से पेश आएंगें तो जनहित के कामों में बाधाएं नहीं आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here