Close X
Wednesday, December 2nd, 2020

सभी जातियों को उनका हक मिलेगा : अखिलेश यादव

shivpal singh yadav,akhilesh yadav , mulayam singh yadavअंजू अग्निहोत्री, आई एन वी सी, लखनऊ, मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने आज यहां 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने संबंधी संस्तुति भारत सरकार को आवश्यक कार्यवाही के लिए भेज देने और 5 अप्रैल को गुह्य निषादराज जयंती का अवकाश करने की घोषणा की। उन्होने कहा कि इन जातियों के हक पाने में जो और रूकावटें होगी, उन्हें भी यह सरकार दूर करेगी। यादव यहां पार्टी के राज्य मुख्यालय, लखनऊ में आयोजित 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने हेतु आयोजित प्रतिनिधि सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर वरिष्ठ मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव, सम्मेलन के संयोजक श्री गायत्री प्रसाद प्रजापति, राज्यमंत्री तथा प्रदेश प्रवक्ता एवं कारागार मंत्री श्री राजेन्द्र चौधरी ने भी सम्बोधित किया।  ठंड और बरसात के बावजूद सम्मेलन में 25 हजार से ज्यादा लोगों ने शिरकत की। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पिछली सरकार ने प्रशासनिक व्यवस्था खराब कर दी थी। पांच साल तक बजट और अनुपूरक बजट का पैसा पत्थरों और प्रतिमाओं पर खर्च किया जाता रहा। विकास और पिछड़ों, गरीबों तथा अल्पसंख्यको के कल्याण पर ध्यान नहीं दिया गया। समाजवादी पार्टी ने 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति की सुविधाएं सन् 2005 में दिलाई थीं जिसे बसपा सरकार ने आते ही समाप्त कर दिया था। उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी ने अपने चुनाव घोषणा पत्र 2012 में 17 पिछड़ी जातियों राजभर, निषाद, मल्लाह, कश्यप, कुम्हार, धीमर, बिन्द,प्रजापति, धीवर, भर, केवट, बाथम, कहार, मछुआ, तुरहा, मांझी, गौड़ के साथ किए गए वायदे निभाए जाएगें।  अखिलेश यादव ने याद दिलाया कि कई जातियों की सही संख्या की जानकारी न होने से उनका ठीक से योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है। जनसंख्या गणना के समय जातिवार जनगणना का मुद्दा उठाकर श्री मुलायम सिंह यादव ने संसद में उसकी लड़ाई लड़ी और तब केन्द्र सरकार को इसके लिए सहमत होना पड़ा। जाति आधारित गणना से संख्या बल पर लाभ सुनिश्चित होगें। उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार शैक्षिक, सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक क्षेत्र में जातियों को आगे बढ़ते देखना चाहती है। उन्हें इस सरकार में पर्याप्त सम्मान मिलेगा।  मुख्यमंत्री जी ने कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार ने मुफ्त पढ़ाई, मुफ्त दवाई के साथ कन्या विद्याधन, बेकारी भत्ता, पढ़े बेटियां, बढ़े बेटियां आदि कई योजनाएं चलाई हैं। मरीज को घर से अस्पताल तक लाने के लिए 108 एम्बुलेंस सेवा शुरू की है। गरीब बच्चों की इंजीनियरिंग और मेडिकल पढ़ाई के लिए मुफ्त कोचिंग की व्यवस्था की गई है। इंदिरा आवास मिलने में हो रही दिक्कतों को देखते हुए लोहिया आवास योजना बनाई गई है। मार्च में बजट आने के बाद गरीबों के लिए और सुविधाएं देनेवाली योजनाएं शुरू होगी। उन्होने पिछड़ी जातियों द्वारा समाजवादी पार्टी को चुनाव में समर्थन दिए जाने के लिए आभार जताया।  वरिष्ठ मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि जब-जब समाजवादी पार्टी की सरकार रही है, गरीबों, पिछड़ो और वंचितो के हित में तभी योजनाएं बनी है। समाजवादी पार्टी की नीति उपेक्षितों और पिछड़ों को विशेष अवसर देकर आगे बढ़ाने की रही है। उन्होने कहा आज इस सम्मेलन में आए सभी समाजों को विकसित समाज के सापेक्ष लाने का काम किया जाएगा। उन्होने गौड़ जाति को भी अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र दिए जाने की वकालत की। सम्मेलन में सर्वश्री विशम्भर प्रसाद निषाद, राज्यमंत्री शंखलाल मॉझी, दयाराम प्रजापति, डा0 राजपाल कश्यप, दीपक कुमार निषाद, विधायक श्रीमती राजमति निषाद, विधायक, ओमप्रकाश वर्मा, विधायक, किरनपाल कश्यप, पूर्व राज्यमंत्री, लक्ष्मीकान्त उर्फ पप्पू निषाद, विधायक रामसुन्दर दास निषाद, विधायक, प्रदेश सचिव श्री एस0आर0एस0 यादव, रमेश प्रजापति, लालता प्रसाद बियार, श्रीमती विद्यावती राजभर लालता प्रसाद निषाद, राजनरायण बिन्द और अनिल राजभर की उपस्थिति प्रमुख रूप से उल्लेखनीय रही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी को एक 22 सूत्री मांग पत्र दिया गया जिस पर विचार करने का उन्होने आश्वासन दिया। अमेठी के प्रमुख नेता श्री उदयराज यादव ने मुख्यमंत्री जी, श्री शिवपाल सिंह यादव एवं गायत्री प्रसाद प्रजापति, राज्यमंत्री सिंचाई को शाल उढ़ाकर सम्मान किया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment