downloadअंजू अग्निहोत्री,
आई एन वी सी,
लखनऊ,
अखिलेश सरकार पूरे प्रदेश में सांप्रदायिकता का माहौल पैदा कर रही है। पूरे प्रदेश में अनुसूचित वर्ग के साथ मुसलमान अत्याचार कर रहे है। सरकार और प्रशासन उन्हे पूरा संरक्षण दे रहा है। अखिलेश सरकार मौन है। उक्त बाते भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने प्रदेश मुख्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान कही। डा0 बाजपेयी ने कहा कि सुल्तानपुर/अमेठी के देहली मुबारकपुर गांव में सम्प्रदाय विशेष के लोगों का झगड़ा अनुसूचित जाति के बसपा कार्यकर्ता के साथ था। 31 अगस्त की रात को सम्प्रदाय विशेष के लोगों ने उसे गोली मार दी। गांव में स्थित मस्जिद से ऐलान कर लोगों को उकसाया गया। फलस्वरूप गांव के कोटेदार द्वारा उपलब्ध कराये गये केरोसीन तेल से अनुसूचित जाति के लोगों के मकानों को जला दिया गया। डा0 बाजपेयी ने आरोप लगाया कि इस पूरे प्रकरण में अमेठी पुलिस की भूमिका गैरजिम्मेदाराना रही। पत्रकारों व जनप्रतिनिधियों को घटना स्थल पर जाने से रोक दिया गया। कल मुझे भी घटना स्थल पर जाने से रोकने के लिए चार-चार जिलों का प्रशासन लगाया गया था जिससे सच सामने न आ सके। भाजपा कार्यकर्ताओं के कड़े प्रतिरोध के पश्चात पीडि़तों को जिलाधिकारी आवास पर बुलाकर मुझसे मिलाया गया। डा0 बाजपेयी ने कहा पीडि़तों से मुलाकात के पश्चात वास्तविकता का पता चला। वहां अभी भी भय का वातावरण है। पीडि़तों को धमकियां मिल रही है। प्रशासनिक सहायता नाकाफी है। पीडि़तो ने बगल के गांव के स्कूल में शरण ले रखी है। डा0 बाजपेयी ने प्रदेश सरकार से मांग किया कि मृतक के आश्रितों को 20 लाख रूपया का मुआवजा दिया जाये। सभी पीडि़तों को इंदिरा आवास दिया जाये। मुआवजा मयसमान और वास्तविकता पर आधारित हो। लापरवाह अफसरों पर कार्यवाही की जाये। डा0 बाजपेयी ने बताया कि सपा सरकार के 17 माह में 56 से अधिक दंगे हो चुके है। अभी कल ही शामली में साम्प्रदाय विशेष के लोगों ने बाल्मीकि समाज के युवक की हत्या कर दी। दो अगस्त को छेड़खानी का विरोध कर रहे दो नौजवानों की हत्या मुजफ्फरनगर में सम्प्रदाय विशेष द्वारा पुलिस की मौजूदगी में कर दिया गया। 27 जुलाई को मेरठ के मुंडाली थाना क्षेत्र में लाउडस्पीकर के विवाद में युवक की हत्या सम्प्रदाय विशेष के लोगों द्वारा कर दी गई। डा0 बाजपेयी ने कहा कि सरकारी संरक्षण में पूरे प्रदेश में सम्प्रदाय विशेष के लोगों द्वारा आतंक का माहौल पैदा कर दिया गया है। अखिलेश सरकार प्रदेश को सांप्रदायिक आधार पर विभाजित करना चाहती है। डा0 बाजपेयी ने मुख्यमंत्री के जनता दर्शन के कार्यक्रम ढकोसला बताते हुए कहा कि आमजन का अपनी एक ही शिकायत को लेकर बार-बार जनता दर्शन में आना यह प्रमाणित करता है कि मुख्यमंत्री के पास भी समस्याओं का कोई समाधान नही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here