Thursday, July 16th, 2020

सड़क निर्माण कार्य की गुणवत्ता और शीघ्रता पर विशेष बल दें - चौहान

shivraj singh chauhanआई एन वी सी,, भोपाल,, रेलवे ओवरब्रिज निर्माण में तेजी लाने के लिये मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम उनका निर्माण पीपीपी मोड में करेगा। निगम 35 ओव्हर ब्रिज बनायेगा। सभी ओवरब्रिजों के निर्माण के लिये पीपीपी मोड और केन्द्र सरकार के वायबिल्टी गेप फण्ड के तहत राशि की उपलब्धता होगी। यह जानकारी आज यहाँ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आहूत मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम की संचालक मण्डल की बैठक में दी गई। बैठक में मुख्यमंत्री को निगम द्वारा चार करोड़ रूपये लाभांश का चेक भी भेंट किया गया। यह निगम द्वारा दिया गया पांचवा लाभांश है। इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री श्री नागेन्द्र सिंह, मुख्य सचिव श्री आर.परशुराम भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सड़क मरम्मत और निर्माण कार्यों की गुणवत्ता और शीघ्रता पर विशेष बल देते हुये रीवा बॉयपास के निर्माण कार्य को शीघ्र पूरा करवाने के लिये कहा।  बैठक में बताया गया कि रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण में रेलवे के अंशदान की राशि और अन्य औपचारिकताओं में हो रहे विलम्ब को देखते हुये निगम द्वारा पीपीपी मोड में रेलवे ओवरब्रिज निर्माण का निर्णय लिया गया है। ओवरब्रिज निर्माण के लिये प्रदेश में 35 स्थान चिन्हित किये गये हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-12 के अंतर्गत जबलपुर-भोपाल, ब्यावरा-राजगढ़, जबलपुर-मण्डला-छिलपी और राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-78 कटनी-शहडोल-अनूपपुर के मरम्मत का कार्य प्रगति पर है। बी.ओ.टी. के अंतर्गत 15 मार्गों के विकास कार्यों की कार्योत्तर अनुमति दी गई। मार्गों के चौड़ीकरण और पुनर्निमाण का कार्य एशियन डेवलपमेंट बैंक के ऋण से कराया जा रहा है। हटा-पटेरा-कुम्हारी मार्ग और रायपुरा-सलिया-बहुरीबांध-सीहोरा मार्ग के लिये पुनर्निविदा कर कार्य प्रारंभ हो गया है। गुना-अशोकनगर-ईशागढ़ मार्ग का बी.ओ.टी. पर विकास किया जा रहा है। बदनावर-थांदला मार्ग का निर्माण ओ.एम.टी. के आधार पर किया जा रहा है। मध्यप्रदेश के अतिथियों के सत्कार के लिये मुम्बई में वासी नवी मुम्बई में आधुनिक अतिथि गृह मध्यलोक का निर्माण निगम द्वारा कराया जायेगा। इसी प्रकार शाहगंज से बरखेड़ा मार्ग का निर्माण कार्य प्रारंभ हो गया है। उज्जैन-बड़नगर मार्ग को फोरलेन बनाया जा रहा है। रीवा-सीधी मार्ग पर मार्च माह के अंत तक कार्य प्रारंभ हो जायेगा। भोपाल-ब्यावरा मार्ग का कार्य शुरू हो गया है। भोपाल-सीहोर मार्ग का अवार्ड पारित हो गया है। सीधी-सिंगरौली मार्ग निर्माण की कार्रवाई अंतिम चरण में है। ग्वालियर से उत्तरप्रदेश की सीमा तक सड़क निर्माण का कार्य पूर्णता पर है। बमिठा से सतना मार्ग पर कार्य किया जा रहा है। संचालक मंडल द्वारा 31 मार्च 2012 को समाप्त वर्ष का संचालक प्रतिवेदन को कार्योत्तर स्वीकृति, निगम अंतर्गत कार्यरत अधिकारियों-कर्मचारियों की संविदा अवधि में वृद्धि का अनुमोदन किया गया। शाहगंज-बरखेड़ा मार्ग का चौड़ीकरण और पुनर्निमाण, मनासा-रामपुरा-भानपुरा-झालावड़ मार्ग के मरम्मत कार्य, गुना-आरोन-सिरोंज मार्ग के मरम्मत कार्य और सागर जिले में सलेहा-सलहा मार्ग निर्माण की स्वीकृति दी गई है। बैठक में प्रमुख सचिव वित्त श्री अजयनाथ, वन श्री बी.पी. सिंह, लोकनिर्माण श्री के.के. सिंह, नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री एस.पी.एस. परिहार, मुख्यमंत्री के सचिव श्री एस.के. मिश्रा, मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम के प्रबंध संचालक श्री विवेक अग्रवाल, खनिज सचिव श्री अजातशत्रु उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment