Tuesday, March 31st, 2020

संयुक्‍त राज्‍य अमेरि‍का से भारतीय रक्षा के लियें रक्षा संबंधी मदों की खरीद

आई.एन.वी.सी,, दिल्ली,,     रक्षा मंत्री श्री ए.के.एन्‍टनी ने यह जानकारी दी है कि‍रक्षा मदों की अधि‍प्राप्‍ति‍वि‍भि‍न्‍न स्‍वदेशी और वि‍देशी स्रोतों से रक्षा अधि‍प्राप्‍ति‍प्रक्रि‍या के अनुसार की जाती है,   जि‍समें संयुक्‍त राज्‍य अमेरि‍का से अधि‍प्राप्‍ति‍भी शामि‍ल है । यह सशस्‍त्र बलों के आधुनि‍कीकरण के लि‍ए अपनाई जाने वाली एक सतत प्रक्रि‍या है ताकि‍ कि‍सी भी संभाव्‍य घटना का सामना करने के लि‍ए उन्‍हें तैयार रखा जा सके । वर्ष 2004 से 2011 की अवधि‍के दौरान अमेरि‍का से सी 130 जे परि‍वहन वि‍मान, वीवीआईपी बोईंग, हार्पून प्रक्षेपास्‍त्र, सेंसर फ्यूज्‍ड हथि‍यार, सी-17 ग्‍लोब मास्‍टर-3, भारतीय नौ.पो. जलाश्‍व, पी-81 एलआरएमआर वि‍मान आदि‍सहि‍त वि‍भि‍न्‍न रक्षा उपस्‍करों की खरीद के लि‍ए करारों पर हस्‍ताक्षर कि‍ए गए हैं ।   2004-2011 की अवधि‍के दौरान पूंजीगत अधि‍ग्रहण के अंतर्गत अमेरि‍का के साथ हस्‍ताक्षर कि‍ए गए करारों का कुल मूल्‍य लगभग 37,181 करोड़ रुपये है ।  

Comments

CAPTCHA code

Users Comment