Monday, November 18th, 2019
Close X

संयम से रहो मिस्टर खान

 वॉशिंगटन । जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और विशेष दर्जे को समाप्त करने के भारत सरकार के फैसले के बाद बौखलाए पाकिस्तान के अनर्गल प्रलाप और खींचतान के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दोनों देशों के पीएम से बात की है। पीएम नरेंद्र मोदी से बात के बाद ट्रंप ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से बात की और उन्हें कश्मीर के मुद्दे पर संयम बरतने की नसीहत दी है। ट्रंप ने इमरान से तनाव बढ़ाने से रोकने और ऐसी स्थिति से बचने की सलाह दी। दोनों नेताओं से बात के बाद ट्रंप ने क्षेत्र में स्थिति को 'कठिन' बताते हुए कहा कि उनकी दोनों पीएम से अच्छी बात हुई है। ट्रंप ने कहा, 'मैंने दो अच्छे दोस्तों पीएम मोदी और पीएम इमरान खान से ट्रेड, रणनीतिक साझेदारी और सबसे खास बात कश्मीर में तनाव करने को लेकर बात हुई।' उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि स्थिति 'कठिन' है लेकिन अच्छी बात हुई है। बातचीत के दौरान ट्रंप ने इमरान को जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर भारत के खिलाफ बयानबाजी पर संयम बरतने की नसीहत दी। वॉइट हाउस ने बताया कि ट्रंप ने कश्मीर पर दोनों देशों से तनाव कम करने का आग्रह किया। ट्रंप की इमरान से एक सप्ताह के अंदर यह दूसरी बातचीत है।


मालूम हो कि गत शुक्रवार को भी ट्रंप और इमरान के बीच बात हुई थी। इस बात के दौरान इमरान ने ट्रंप से कश्मीर के मुद्दे पर बात की थी और क्षेत्रीय शांति पर इसके खतरे को लेकर पाकिस्तान की चिंता से अवगत कराया था। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ट्रंप ने कहा था कि वह कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता करने को तैयार हैं। हालांकि भारत ने जम्मू-कश्मीर को द्विपक्षीय मुद्दा बताते हुए इसपर किसी मध्यस्थता की कोशिश को नकार दिया था। भारत के बयान के बाद अमेरिका ने भी कश्मीर को द्विपक्षीय मुद्दा माना। ज्ञात हो कि ट्रंप ने सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी से करीब आधे घंटे फोन पर बात की थी। इस दौरान पीएम मोदी ने पाक से संबंधों को लेकर बिना उसका नाम लिए ट्रंप से कहा कि कुछ नेताओं का भारत के खिलाफ हिंसा का रवैया शांति की प्रक्रिया में बाधक है। उनका इशारा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की तरफ था, जिन्होंने हाल में भारत विरोधी कई बयान दिए हैं। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment