Wednesday, February 19th, 2020

श्रुति चौधरी ने विकास के नाम पर समर्थन मांगा

संजय रॉय नांगल चौधरी (हरियाणा).   कांग्रेस प्रत्याशी श्रुति चौधरी ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री स्व. चौ. बंसीलाल ने सत्ता में प्रवेश करते ही दक्षिण हरियाणा के लोगों के लिए एक से बढ़कर एक विकास योजनाएं लागू की। उनकी मंशा इस इलाके को विकास के मामले में सबसे ऊपर देखने की थी। चौ. बंसीलाल ने प्रदेश में 9 कॉलेजों का निर्माण करवाया जिसमें यहां के लोगों का स्तर ऊपर उठाने के लिए महेन्द्रगढ़ क्षेत्र को 7 कॉलेज दिए गए। उन्होंने इस इलाके के हितों को सर्वोपरि रखते हुए यहां सबसे अधिक विकास कार्य करवाएं। उनमें मन में इस क्षेत्र के लिए विशेष टीस थी क्योंकि यहां के लोगों के साथ उनका अटूट नाता था। इस क्षेत्र में करवाए गए चौ. बंसीलाल के विकास कार्यो से पता चल जाता है कि वो इस इलाके विकास के लिए कितने प्रयत्नशील थे। श्रुति चौधरी ने नांगल चौधरी हलके के अपने जनसंपर्क अभियान के तहत गाँव  कोरियावास, मारोली, निजामपुर, मोसनुता, दोखेरा, जैनपुर, अमरपुरा, बुडवाल, थनवास, नायन, ढाणी सैद अलीपुर वाली, बामनवास, नियामदपुर, मैरूंड, सिरोही भाली, अकबरपुर, भोजावास, भुंगारका, तोताहेडी, सिलारपुर, टहला, मुकदपुरा सहित दो दर्जन से भी अधिक गांवों में जनता को संबोधित किया.  उन्होंने कहा कि स्व. चौ. बंसीलाल ने अपने शासनकाल में विकास कार्यो को ही सर्वोपरि माना। उन्होंने कभी भी जाति-पाति की राजनीति नहीं की बल्कि समाज के सभी वर्गो को समान रूप से साथ लेकर चलना उनका मुख्य ध्येय रहा। कांग्रेस पार्टी छत्तीस बिरादरी की पार्टी है जिसमें सभी वर्गो के हित निहित है। अपने शासनकाल में कांग्रेस ने ये साबित कर दिया है कि वह सभी वर्गो का बिना किसी भेदभाव के समान रूप से विकास करवाने में विश्वास रखती है। पिछडे वर्गो के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाओं को अमलीजामा पहनाकर कांग्रेस पार्टी ने जो जनहितैषी कदम उठाए हैं उनकी बराबरी कोई अन्य दल नहीं कर सकता। आज कांग्रेस पार्टी के विकास कार्यो के सामने अपने शासनकाल को तुच्छ होते देख विपक्षी दल आमजन को बरगलाकर भ्रामक प्रचार करने में जुटे हैं। समाज को जाति-पाति में बांटकर आमजन का भला कभी नहीं हो सकता। जनता की भावना को आहत करने वाले लोग तो राष्ट्र विरोधी तत्वों की श्रेणी में खडे होते हैं। जो लोग समाज में वर्ग विशेष की भावना का जहर घोलते हैं उन लोगों का आमजन के हितो से कोई लेना-देना नहीं होता। जो नेता अपने हितों को साधने के लिए जनता के हको के साथ समझौता करता है वह कभी आमजन का हितैषी नहीं हो सकता।  उन्होंने कहा कि दक्षिणी हरियाणा की पानी, बिजली, सड़को जैसी मुख्य समस्या की हजकां और इनेलो नेताओं ने अपने शासन काल में दरकिनार कर दिया। उन्होंने कहा कि हजकां नेता इस इलाके से मत प्राप्त करके आज भी इसे पराया समझते है। मत प्राप्त करने के बाद उन्होंने इस इलाके के साथ सौतेला व्यवहार करके अपने-पराए की एक मिसाल कायम की है। उन्होंने कहा कि हजकां नेता ने बरगलाकर इस इलाके के मतदाताओं से वोट तो हासिल कर लिए, लेकिन पांच वर्ष तक उन्होंने कभी इस क्षेत्र की तरफ मुंह तक नहीं किया। उन्होंने कहा कि हजकां नेता ने पिछले चुनाव के समय इलाके के लोगों से बड़े-बड़े वायदे किए थे। लेकिन सांसद बनते ही उन्होंने इस इलाके से ऐसा किनारा किया कि जैसे वो यहां के लोगों जानते ही ना हो। लोगों की जनभावनाओं से खेलने वाले नेताओं से जनता मतदान के दिन हिसाब बराबर करेगी। कांग्रेस के पक्ष में चलने वाली चौतरफा लहर इस बात की ओर इशारा करती है कि इनेलो और हजकां जैसे क्षेत्रीय दलों का कोई अस्तित्व पूरी तरह से खत्म हो गया है। आमजन को भरोसा ऐसे चुनावी समय में दिखाई देने वाले कपटी नेताओं से उठ गया है।   श्रुति चौधरी ने कहा कि अपने दादा और पिता की तरह वे भी इस इलाके के लिए नीतियां लागू करके बहुत कुछ करना चाहती है। इलाके की आवाज बुलंद करने के लिए वे कोई कोर-कसर नहीं छोडेंगी। जो सपना स्व. चौ. बंसीलाल ने इलाके के लिए देखा था उसे पूरा करने पहली प्राथमिकता है। स्व. चौ. बंसीलाल शासनकाल के 12 साल विपक्षी दलों के नेताओं के शासनकाल पर भारी पडते हैं। प्रदेश का विकास केवल कांग्रेस शासित सरकार ही कर सकती है। 70 हजार करोड के कर्जे माफ करके ये बात साबित कर दी गई है कि आम आदमी की भलाई केवल कांग्रेस के शासनकाल में ही संभव है। पेंशन बढाकर जो आम मतदाता की मदद की गई है उसका कोई सानी नहीं है।  श्रुति चौधरी ने कहा कि स्व. चौ. बंसीलाल और स्व. चौ. सुरेन्द्र सिंह ने अपने शासनकाल में इस क्षेत्र के लिए विकास की बडी-बडी योजनाएं लागू की। लेकिन बाहर से हमारे बीच पहुंचने वाले ये स्वार्थी नेता अब अपने हित साधने के लिए जाति-पाति और अन्य महत्वहीन मुद्दों को भुनाने में लगे हैं। लेकिन जनता इनके भाषणों पर अब विश्वास न करके कांग्रेस पार्टी के पक्ष में लामबंद है। उन्होंने कहा कि इनेलो और हजकां का कोई जनाधार नहीं है चुनावों में इन स्वार्थी नेताओं को जनता को बरगलाने का भारी खामियाजा भुगतना पडेगा। मतदान के दिन कांग्रेस के समर्थन में होने वाली वोटिंग से इन नेताओं को अपने असली चेहरे का दर्शन हो जाएगा उन्हें पता चला जाएगा कि आम जनता में उनका स्थान कहा हैं। बैकफुट पर पहुंच चुके इन नेताओं का अस्तित्व अब लुप्त हो चुका है और इनकी बरगलाने वाली भाषा भी अब लोगों को समझ नहीं आ रही है।    उन्होंने कहा कि दक्षिण हरियाणा में स्व. चौ. बंसीलाल और स्व. चौ. सुरेन्द्र सिंह द्वारा करवाए गए विकास कार्यो की कोई भी विपक्षी दल तुलना नहीं कर सकता। उन्होंने बहुत ही कम समय में बड़ी-बडी विकास योजनाओं को अमलीजामा पहनाया। उन्होंने आमजन के हितों को ध्यान में रखकर यहां बिजली, पानी तथा स्कूलों का निर्माण करवाया। चौ. बंसीलाल ने सड़क निर्माण के लिए बाछौद हवाई पट्टी का निर्माण करवाया क्योंकि इन रेतीले इलाकों में  आने से परहेज करने वाले अधिकारी हवाई जहाज के द्वारा यहां आकर अपना कार्य कर सकें। ये सब जनता के हितों के लिए ही हुआ लेकिन विपक्षी दलों की सरकार आने पर उन्होंने यहां विकास की एक ईंट भी नहीं लगवाई और न ही चौ. बंसीलाल द्वारा करवाए गए विकास कार्यो की मरम्मत करवाना मुनासिब समझा। आज जनता जागरूक हो चुकी है और वो चुनाव में इन स्वार्थी दलों को सबक सिखाने के लिए बड़ी बेचैन दिखाई दे रही है। क्योंकि इन नेताओं ने अपने शासनकाल में हर बार इस क्षेत्र के लोगों का शोषण किया है।  इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष राव रामसिंह, गजेसिंह नंबरदार, एडवोकेट चंद्रप्रकाश, राव जगमाल सिंह,  रविन्द्र मटरू, चेयरमैन मीरा शर्मा, रामस्वरूप ठेकेदार, महेश सोढा, मा. विद्यानन्द, वैद्य किशन वशिष्ठ, विनोद सैनी, रामनिवास यादव, कैलाश यादव, एडवोकेट प्रदीप सांडिल, संदीप एडवोकेट,  श्रीमती संतोष, स्वतंत्रता सेनानी कुडाराम आजाद, कैप्टन दोगराम, बनवारी नंबरदार, शेरसिंह, जसवंत भाटी, राजकुमार बलावा, सुशील शर्मा, रामशरण चंदेला, धोलाराम, धर्मबीर यादव आदि अनेक गणमान्य कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment