Close X
Thursday, October 29th, 2020

श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट के खाते से साढ़े 5 लाख की ठगी

अयोध्या में बनने वाले श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते से ठगों ने लखनऊ के एक बैंक से क्लोन चेक के जरिए 6 लाख रुपए निकाल लिए। जब तीसरे क्लोन चेक से धनराशि निकालने की कोशिश की जा रही थी तो वेरिफिकेशन के दौरान ठगी पकड़ी गई। ट्रस्ट ने अयोध्या कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

सीओ अयोध्या राजेश राय के मुताबिक, लखनऊ के एक बैंक से क्लोन चेक बनाकर 1 सितंबर को ढाई लाख और 3 सितंबर को साढ़े 3 लाख रुपए निकाले गए। तीसरी बार जब 9 लाख 86 हजार के फर्जी चेक से बैंक ऑफ बड़ौदा में पैसे निकालने की कोशिश की गई तो वेरीफिकेशन के लिए बैंक अधिकारियों ने ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय को फोन किया।

महासचिव ने इतने बड़े अमाउंट का चेक देने से इंकार कर दिया। इस पर बैंक अधिकारियों ने ट्रांजेक्शन रोक दिया। सीओ ने बताया कि ट्रस्ट के महासचिव ने अयोध्या कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है। वहीं, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाता संचालन के लिए महासचिव चंपत राय व सदस्य डा अनिल मिश्र का ज्वाइंट हस्ताक्षर अधिकृत किया गया है।

पुलिस मामले की जांच कर रही, साइबर सेल से मदद ली जाएगी

डीआईजी/ एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के द्वारा जानकारी दी गई थी दो फर्जी चेक लगाकर पैसे निकाले गए हैं। यह चेक 1 सितंबर और दूसरा चेक 2 दिन बाद लगाकर पैसा निकाला गया। जब तीसरा चेक लगाया गया तो वेरिफिकेशन में मामला पकड़ा गया।

ओरिजनल की तरह ही होता है क्लोन चेक

दरअसल, क्लोन चेक कंप्यूटर से तैयार किया डुप्लीकेट चेक होता है।जो देखने बिल्कुल ओरिजनल जैसा ही दिखता है।क्लोन एटीएम के भी साइबर क्राइम करने वाले तैयार करके पैसा निकालने में सफल हो जाते हैं। क्लोन चेक भी साइबर क्राइम का हिस्सा है। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment