Close X
Saturday, January 16th, 2021

शुरू होने से पहले ख़त्म करेंगे ह्यूमन ट्रैफिकिंग की समस्या : रघुवर दास

raghubar das on human traffickingआई एन वी सी न्यूज़ राँची, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि गरीबी से तंग आकर भोले-भाले लोग किसी असमाजिक तत्व द्वारा काम दिलाए जाने के बहकावे में आकर राज्य से पलायन कर जाते हैं और हयूमन टैªफिकिंग(मानव तस्करी) का षिकार हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि आज हयूमन ट्रैफिकिंग की सबसे बड़ी वजह बेरोजगारी है और उनकी सरकार लोगों को स्वरोजगार देने की दिषा में कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि यदि लोगों के पास स्वरोजगार होगा तो हयूमन टैªफिकिंग की समस्या स्वतः समाप्त हो जायेगी। वे आज होटल रेडिसन ब्लू में हयूमन टैªफिकिंग(मानव तस्करी)विषय पर आयेाजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि उनकी सरकार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में पहल कर चुकी है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार लोगों के कौषल विकास पर ध्यान दे रही है। इसी दिषा में आगे बढ़ते हुये राज्य सरकार ने हाल में ही झारखण्ड कौषल विकास मिषन सोसाईटी एवं केन्द्र सरकार की राष्ट्रीय कौषल विकास निगम के साथ एम0ओ0यू0 किया हैैं। इस एम0ओ0यू0 के साथ ही केन्द्र सरकार राज्य के कौषल विकास में सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि इस करार के माध्यम से राज्य सरकार लेागों को रोजगारन्मुखी प्रषिक्षण भी देगी, जिससे वे अपने पैरों पर खड़ा हो सके। उन्होंने कहा कि इस दिषा में कार्य करने से निष्चित तौर पर हयूमन टैªफिकिंग(मानव तस्करी) में कमी आयेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड के औधोगिक समूह अपने सी0एस0आर0 का 2 प्रतिषत राषि लोगों के विकास कार्य में करते ही रहते हैं लेकिन इसकी जानकारी सरकार को नहीं देते है, जिसके कारण उनके द्वारा किये गये कार्यों का आउटपुट नहीं आता। उन्होंने कहा कि अब कंपनी अपने सी0एस0आर0 का 2 प्रतिषत राषि सरकार को दें। सरकार इस 2 प्रतिषत राषि का उपयोग हयूमन टैªफिकिंग(मानव तस्करी) को कम करने की दिषा मे भी ंकार्य करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हयूमन टैªफिकिंग(मानव तस्करी) की समस्या को समाप्त करने के लिये सरकार के साथ-साथ सभी गैर सरकारी संस्था एवं लेागों को आगे आना होगा। कार्यक्रम में विकास भारती संस्था के पद्मश्री अषोक भगत सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment