शिमला में बनेगा मनोविज्ञान का सेवा केंद्र

0
44

mental health women in indiaआई एन वी सी,,
शिमला,,
प्रदेश सरकार राज्य में मेंटल हेल्थ एण्ड न्यूरो साईंस संस्थान आरम्भ करेगी, जो मनोविज्ञान सेवा का श्रेष्ठ केन्द्र होगा। इस संस्थान के आरम्भ होने से राज्य के स्वास्थ्य क्षेत्र में एक और उपलब्धि जुड़ जाएगी। प्रधान सचिव स्वास्थ्य श्री अली रज़ा रिज़वी ने आज यहां यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वर्तमान संसाधनों को और सुदृढ़ बनाने के लिए इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज शिमला के साइकेटरी विभाग तथा मेंटल हेल्थ एंड रि-हेबलीटेशन अस्पताल को समायोजित किया जाएगा। श्री रिज़वी ने कहा कि साइकेटरी विभाग शिमला के घोड़ा चौकी के निकट स्थापित मेंटल हेल्थ एंड रि-हेबलीटेशन अस्पताल का हिस्सा होगा। नव गठित मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाईंस संस्थान आईजीएमसी से सम्बद्ध होगा, जबकि यह स्वतंत्र रूप से कार्य करेगा। ओपीडी सेवाएं आईजीएमसी में जारी रहेंगी तथा यह कमला नेहरू अस्पताल की तर्ज पर ही कार्य करेगा, जो किसी अन्य स्थान पर कार्य कर रहा है और आईजीएमसी का हिस्सा है। इस संस्थान पर पर्याप्त भूमि की उपलब्धता के दृष्टिगत अधोसंरचना सुविधाओं को सुदृढ़ बनाया जाएगा। आईजीएमसी के साइकेटरी विभाग के प्रमुख इस संस्थान के निदेशक होंगे। प्रधान सचिव ने कहा कि इस नए संस्थान को स्थापित करने के पश्चात बिस्तरों की क्षमता बढ़ने से विभाग में स्नातकोत्तर सीटों की संख्या भी बढ़ेगी और राज्य में मनोरोगी उपचार के लिए विशेषज्ञ श्रमशक्ति की उपलब्धता में भी वृद्धि होगी। राज्य मेंटल अस्पताल में बेहतर रोगी उपचार भी उपलब्ध करवाया जा सकेगा। श्री रिज़वी ने कहा कि प्रदेश में साइकेट्रिक सेवाओं की मांग वर्षों से चली आ रही है तथा वर्तमान परिप्रेक्ष्य में आधुनिक दिनचर्या में बढ़ते दवाब के चलते ज्यादा से ज्यादा लोगों को साइकेट्रिक, साइकॉलोजिकल इत्यादि के लिए विशेषज्ञ परामर्श की आवश्यकता रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here