Close X
Thursday, May 6th, 2021

शिक्षा से महरूम बच्चो का अच्छा खासा तबका

imagesआई एन वी सी,
भोपाल,
मध्यप्रदेश में इस साल भी बच्चों को स्कूल भेजने के लिये व्यापक स्तर पर स्कूल चले हम अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के पहले चरण में अनेक गतिविधियों को संचालित किया जा रहा है। राज्य शासन ने अभियान को सफल बनाने के लिये बड़े स्तर पर तैयारियाँ की हैं। अभियान से समाज को भी जोड़ने की भी तैयारी की गई है। राज्य शासन ने समस्त कलेक्टर और मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को पत्र भेजकर नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम के प्रावधानों के तहत 6 से 14 तक के सभी बच्चों का नामांकन स्कूल में करवाने के लिये चार चरण में स्कूल चले हम अभियान संचालित करने का निर्णय लिया है। यह जानकारी अपर मुख्य सचिव स्कूल शिक्षा श्री एस.आर. मोहन्ती की उपस्थिति में मंत्रालय में हुई एक बैठक में दी गई। बैठक में आयुक्त राज्य शिक्षा केन्द्र श्रीमती रश्मि अरूण शमी, अपर सचिव जनसम्पर्क श्री लाजपत आहूजा आदि उपस्थित थे। बैठक में श्री मोहन्ती ने बताया कि इस साल अभियान को जनता के बीच लोकप्रिय एवं उद्देश्यपूर्ण बनाने के उद्देश्य से विभिन्न गतिविधियाँ आयोजित की जायेंगी। अभियान को सामाजिक आंदोलन का स्वरूप प्रदान किया जायेगा। जनता, जन-प्रतिनिधि और समाज तीनों की भागीदारी इसमें सुनिश्चित की जायेगी। अभियान को सफल बनाने के लिये व्यापक प्रचार-प्रसार पर भी बल दिया जायेगा। अभियान का पहला चरण विगत 30 अप्रैल से प्रारंभ हो चुका है, जिसमें ग्राम शिक्षा पंजी को अघतन किया जा रहा है। अभियान का दूसरा चरण जून में होगा, जिसमें नामांकन संबंधी गतिविधियाँ होंगी। तीसरा चरण प्रतिभा पर्व के प्रथम चरण के पहले और चौथा चरण प्रतिभा पर्व के दूसरे चरण के पहले संचालित किया जायेगा। बैठक में बताया गया कि पहले चरण में 9 मई के पहले कक्षा एक में दर्ज होने वाले बच्चों की ग्रामवार सूची ग्राम/वार्ड प्रभारियों द्वारा जनशिक्षकों को सौंपी जायेगी। आगामी 16 मई तक जनशिक्षक द्वारा विकासखण्ड स्त्रोत समन्वयक को उक्त सूची सौंपी जायेगी। विगत 30 अप्रैल से जो गतिविधि संचालित हो रही है, उसमें शाला प्रभारी द्वारा पॉंचवीं कक्षा की पढ़ाई पूरी वाले बच्चों के प्रवेश के लिये पालकों से संपर्क किया जा रहा है। छठवीं कक्षा में प्रवेश के लिये बच्चों की सूची तैयार कर उसकी एक प्रति मिडिल स्कूल के प्रधान अध्यापक द्वारा जनशिक्षक को नौ मई तक उपलब्ध करवाई जायेगी। इसी तिथि तक प्रवेश योग्य बच्चों की सूची भी तैयार हो जायेगी। पिछले हफ्ते के दौरान शाला प्रभारी द्वारा ऐसे बच्चों को प्रवेश दिलाने के लिये पालकों से सम्पर्क किया गया, जिन्होंने आठवीं कक्षा की पढ़ाई पूरी कर ली है। हाईस्कूल/हायर सेकेण्डरी के प्राचार्य द्वारा जिला अकादमिक समन्वयक को नौवी कक्षा में प्रवेश लेने वाले बच्चों की संकलित सूची आगामी 10 मई तक सौंपी जायेगी। इसी तरह एक जून को कक्षा एक, छह एवं नौ में प्रवेश लेने योग्य बच्चों की जानकारी की पोर्टल में प्रविष्टि करवाई जायेगी।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment