Close X
Thursday, May 6th, 2021

शिक्षा को जन-साधारण के बीच फैलाना पहली आवश्यकता

आई एन वी सी न्यूज़

रांची,
रामकृष्ण मिशन विवेकानंद स्टूडेंट्स होम, साकची, जमशेदपुर के नवनिर्मित छात्रावास के उद्घाटन समारोह में माननीया राज्यपाल महोदया  रामकृष्ण मिशन विवेकानंद स्टूडेंट्स होम, साकची, जमशेदपुर के नवनिर्मित छात्रावास के उद्घाटन समारोह में आप सभी के मध्य सम्मिलित होकर अपार प्रसन्नता हो रही है।

 इस छात्रावास के निर्माण हेतु मैं रामकृष्ण मिशन, जमशेदपुर को बधाई देती हूँ।  मुझे अवगत कराया गया कि यह छात्रावास भवन झारखंड राज्य के आदिवासी और पिछड़े वंचित वर्ग के 120 लड़कों को समायोजित करेगा।

 इस अवसर पर मैं भारत सरकार के रेल विकास निगम लिमिटेड को विशेष रूप से बधाई देना चाहूंगी, जिन्होंने इस तीन मंजिला छात्रावास भवन के निर्माण की इस परियोजना को पूरा करने के लिए CSR पहल के तहत 2.14 करोड़ रुपया  अनुदान में देने का कार्य किया।

 मुझे यह कहते हुए प्रसन्नता हो रही है कि इस प्रकार के कल्याणकारी कार्य एवं परोपकार द्वारा रामकृष्ण मिशन स्वामी विवेकानन्द जी के सपनों को पूर्ण करने की दिशा में अग्रसर भूमिका का निर्वहन कर रहा है।

 भारत के महान देशभक्त संत एवं श्री रामकृष्ण देव के अग्रणी शिष्य स्वामी विवेकानंदजी , ने  “आत्मनो मोक्षार्थम् जगद्धिताय च” – ‘आत्ममुक्ति एवं जगत का हित’ - आदर्श वाक्य के साथ रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन की स्थापना की।

 स्वामीजी ने कहा कि हमारे देश की पहली आवश्यकता है शिक्षा को जन-साधारण के बीच फैलाना। ऐसी शिक्षा जिससे भारत के युवाओं का सर्वांगीण विकास हो। मनुष्य-निर्माणकारी, चरित्र-निर्माणकारी शिक्षा।

 स्वामीजी ने कहा - "जो जीव की सेवा करता है, वह वास्तव में भगवान की ही सेवा करता है।" उन्होंने कहा - "मैं उन्हें ही महात्मा कहता हूं, जिनका हृदय गरीबों के लिए रोता है, बाकी सब तो दुरात्मा हैं ।"

 रामकृष्ण मिशन, जमशेदपुर द्वारा मुझे अवगत कराया गया कि  रामकृष्ण मिशन की जमशेदपुर शाखा, जमशेदपुर शहर में विभिन्न स्तर के 16 स्कूल चलाती है, जिसमें 12,000 छात्र नामांकित हैं। 110 लड़कों के लिए छात्रावास है, जिसमें 65 लड़के अनुसूचित जनजाति और 45 लड़के अनुसूचित जाति एवं अन्य पिछड़े समुदायों के हैं। 200 झुग्गी-झोपड़ी के बच्चों के लिए एक गैर-औपचारिक स्कूल है। रामकृष्ण मिशन, जमशेदपुर की इन गतिविधियों को जानकर मुझे अत्यन्त प्रसन्नता हुई। देखा गया है कि यहाँ के छात्र संस्कारी और विनम्र होते हैं।

 रामकृष्ण मिशन आध्यात्मिक संस्था होने के साथ जन-सेवा के कार्यों की दिशा में सतत प्रयासरत है, चाहे वह किसानों को उन्नत कृषि तकनीक का प्रशिक्षण देने का प्रश्न हो या शिक्षा, स्वास्थ्य आदि जैसे अहम विषय हो।  

 रामकृष्ण मिशन अपने साप्ताहिक मोबाइल मेडिकल यूनिट के द्वारा पूर्वी सिंहभूम और सरायकेला-खरसावां जिलों के विभिन्न स्थानों पर अपने छह क्लीनिकों के माध्यम से नि:शुल्क चिकित्सा उपचार करने के साथ वार्षिक रक्तदान शिविर का भी आयोजन करता है।

 इस अवसर पर मैं कहना चाहूंगी कि कोरोना काल के कारण संभवतः Blood Bank में Blood की कमी हुई है। यह संस्था रक्तदान में अग्रणी भूमिका का निर्वहन करें ताकि किसी भी व्यक्ति की मृत्यु रक्त न मिलने की वजह से न हो।

 मुझे यह भी अवगत कराया गया कि यह संस्था जनजाति छात्र/छाराओं के लिए एक मुफ्त टंकण (Type Writing) और कंप्यूटर प्रशिक्षण संस्थान का भी संचालन कर रहा है। मैं चाहूँगी कि यहाँ एक Placement Cell का भी गठन किया जाय ताकि इन युवाओं को कहीं रोजगार मिल सके।

 एक बार पुनः रामकृष्ण मिशन विवेकानंद स्टूडेंट्स होम, साकची, जमशेदपुर के नवनिर्मित छात्रावास हेतु सभी को बधाई एवं शुभकामना।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment