Close X
Sunday, November 29th, 2020

शिक्षा के सुदृढ़ीकरण के संगठित प्रयास - मास्टर भवार लाल मेघवाल

आई.एन.वी.सी,, जयपुर,, शिक्षा मंत्री मास्टर  भवार  लाल मेघवाल ने कहा है कि सरकार शिक्षा के ढांचे के सुदृढीकरण के संगठित प्रयास कर रही है और शिक्षक वर्ग भी सकारात्मक सोच के साथ इन प्रयासों में सहभागी बनें। श्री मेघवाल शुक्रवार को भरतपुर के master आदित्येंद्र रा.उ.मा.वि. में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा नव स्थापित विद्यार्थी सेवा केंद्र के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने जिले एवं संभाग के छात्रों एवं अभिभावकों के लिए इस केंद्र को बहुउपयोगी बताते हुए कहा कि अब  छात्रोें को अंकतालिका ,प्रमाण पत्र व माइग्रेशन सटिüफिकेट आदि के लिए अजमेर के चक्कर नहीं लगाने पडेंगे जिससे धन और समय की बचत भी होगी। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में वर्ष 2006 से 2011 तक की अंकतालिका व प्रवर्जन प्रमाण पत्र की प्रतिलिपि केंद्र पर छात्रों को उसी दिन मिल सकेगी और प्रयास किए जा रहे है कि अगले दो वषोüं में इन केंद्रों पर गत 40 वर्ष के शै़क्षणिक प्रमाण पत्र सहित अन्य बोर्ड प्रलेख भी उपलब्ध होने लगेंगे। उन्होंने इस वर्ष से माध्यमिक शिक्षा बोर्ड  के आवेदन पत्र भी ऑनलाईन भरने की सुविधा को भी छात्र वर्ग के लिए महत्वपूर्ण बताया। शिक्षा मंत्री ने कहा कि अगले एक-डेढ वर्ष में 70-7भ् हजार अध्यापकों की भतीü की जाएगी और अगले भ्-6 माह में 41 हजार शिक्षकों की भतीü होगी और शीघ्र ही तृतीय श्रेणी अध्यापकों की भतीü की प्रक्रिया जिला परिषदों के माध्यम से प्रारभ की जाएगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत राज्य को हाल ही एक हजार करोड़ की राशि आवंटित हुई है । उन्होंने बताया कि राज्य में इस वर्ष 1 लाख 42 हजार बालिकाओं को साईकिल वितरित की गई हैं और 186 बालिका छात्रावास स्वीकृत किए गए हैं जिनमें से 74 का निर्माण हो चुका है। उन्होंने बताया कि जयपुर में शीघ्र ही 2भ् करोड़ की लागत से शिक्षा विभाग का भवन बनेगा। समारोह की अध्यक्षता करते हुए शिक्षा एवं खेल राज्य मंत्री श्री मांगी लाल गरासिया ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि सभी पंचायत मुयालय पर पाईका योजना के तहत खेल मैदान विकसित हों ताकि ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभावान खिलाडी भी आगे आ सकें। उन्होंने शिक्षा को विकास का रास्ता बताते हुए कहा कि प्रांत में शिक्षा के ढांचे को सुधारने के हर सभव प्रयास जारी हैं जिसमें शिक्षक वर्ग का सहयोग सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ॰ सुभाष गर्ग ने भी विद्यार्थी सेवा केंद्र को छात्रवर्ग के लिए उपयोगी बताया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment