Tuesday, November 12th, 2019
Close X

शिक्षा की बेहतरी के लिए आमजनों की सहभागिता को हमें प्राथमिकता देनी होगी : रावत

Harish Rawat INVCNEWSआई एन वी सी न्यूज़ अल्मोड़ा, पर्वतीय क्षेत्रों से पलायन को रोकने के लिए हमें विकास कार्यों को गति देने के साथ-साथ कार्यों की गुणवत्ता की ओर विशेष ध्यान देना होगा यह बात प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज सोमेश्वर में आयोजित एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि शिक्षा की बेहतरी के लिए आमजनों की सहभागिता को हमें प्राथमिकता देनी होगी शिक्षा की बेहतरी के लिए जहाॅ प्रदेश सरकार ने आदर्श माडल स्कूल बनाने का निर्णय लिया है वहीं दूसरी ओर स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए बेहतर योजना तैयार की जा रही है। पहाड़ों में उत्पादित होने वाले चैलाई के लिए यूरोप में मार्केट की तैयारी की जा रही है ताकि यहाॅ के उत्पादो को बढ़ावा मिल सके मा0 मुख्यमंत्री ने किसानों को हर सम्भव सुविधा उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है यही नहीं उन्होंने कहा कि बेटी बचाओं-बेटी पढ़ाओं योजना को बढ़ावा देने के लिए समस्त जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि जब किसी के घर में दूसरी बेटी पैदा होगी तो जिलाधिकारी उन्हें सम्मानित करेंगे। मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कृषि को बढ़ावा देने के लिए वन विलेज, वन फार्म योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया है। मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए यह योजना चलायी गयी है इसके तहत गाॅवो में कलस्टर विकसित किये जायेंगे गाॅव की स्थिति के अनुसार फसलों का चयन कर उनकी खेती की जायेगी प्याज, अदरक व हल्दी की खेती को बढ़ावा देने के लिए कलस्टर बेस खेती के लिए लोगो को प्रोत्साहित किया जायेगा इसके लिए गाॅव की खाली पड़ी या बंजर जमीन का उपयोग किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश तेजी से विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है इसकी सराहना नीति आयोग द्वारा की गयी है और देश के 06 प्रगतिशील राज्यों में उत्तराखण्ड का छठा स्थान है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने विगत दो वर्षों में पेंशन में बढ़ोत्तरी कर अन्य पेंशनों को भी लागू किया है जबकि इससे पूर्व पेंशनरों की संख्या 02 लाख थी अब वह बढ़कर 6.50 लाख हो गयी है। इस अवसर पर उन्होंने सोमेश्वर में महिला बेस चिकित्सालय खोलने की घोषणा के साथ ही बागेश्वर में भी बेस चिकित्सालय खोलने की बात कही और  स्थानीय विधायक द्वारा दिये गये माॅग पत्र के अनुसार क्रमबद्व तरीके से उन्होंने स्वीकृत करने एवं नैनीसार में आई0टी0आई0 खोलने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में उद्योंगो को बढ़ावा देने के लिए छः औद्योगिक आस्थान एवं 25 फास्ट फूड सेन्टर को विकसित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए जहाॅ प्रत्येक विकासखण्ड में 05-05 माडल स्कूलों को बनाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर गाॅवों को विकसित करने के लिए आदर्श माडल ग्राम बनाये जा रहे है साथ ही उनके विकास के लिए ग्राम विकास कोष की भी स्थापना की जा रही है। नैनीसार क्षेत्र भविष्य में ग्रामीण विकास का एक माडल बनेगा इसके लिए प्रयास किये जा रहे है। स्वयंसहायता समूहों के माध्यम से व गाॅवों में समूह बनाकर यदि ग्रामीण कृषि यन्त्र आदि खरीदना चाहें उन्हें रियायती दरों पर यह यऩ़्त्र उपलब्ध कराये जायेंगे। मा0 मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर विज्ञान प्रदर्शनी में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने वाली प्रियंका बिष्ट को भी सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस वर्ष 500 नयी सड़कों का निर्माण किया जायेगा साथ ही वन अधिनियम के मामलों को निपटाने के लिए एक नई पहल शुरू कर अधिकाधिक मामले निपटा दिये गये है सोमेश्वर में उप कोषागार की स्थापना को विशेष महत्व देकर आगामी वित्त वर्ष में उसे शीघ्र चालू किया जायेगा। मा0 मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कुल 77 करोड़ 57 लाख 92 हजार रू0 की योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकापर्ण किया जिनमें से 150.04 लाख रू0 की योजनाओं का लोकार्पण एवं 7607.88 लाख रू0 की योजनाओं का शिलान्यास किया। जिन योजनाओं का शिलान्यास किया गया उनमें ईड़ाजौरासी मोटर मार्ग के शेष भाग का निर्माण 20.00 लाख रू0, विधानसभा सोमेश्वर के अन्तर्गत राज्य योजना अन्तर्गत द्वारसौं-काकड़ीघाट मोटर मार्ग के कि0मी0 26 में 24 मी0 स्पाॅन स्टील गर्डर सेतु लागत 55.96 लाख रू0, द्वारसौं-काकड़ीघाट मोटर मार्ग के किमी0 26 में 25 लाख रू0 का पुल बचाव कार्य, ए0एन0एम0 सेंटर रनमन अयारपानी लागत 24.08 लाख रू0, ए0एन0एम0 सेंटर रनमन लागत 7.60 लाख रू0, ताकुला भैसोड़ी ग्राम में स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी हरस्वरूप पाण्डे की स्मृति मूर्ति का लोकार्पण लागत 7.40 लाख रू0, पशु सेवा केन्द्र भगतोला का भवन निर्माण लागत 10.00 लाख रू0 सम्मलित है। इसी तरह जिन योजनाओं का शिलान्यास किया गया उसमें पैखाम-नैनोली मोटर मार्ग के किमी0 01 से किमी0 03 में डामरीकरण/सुधारीकरण लागत 137.57 लाख रू0, कटारमल सूर्य मन्दिर मोटर मार्ग का डामरीकरण लागत 156.31 लाख रू0, कठपुड़िया से कुरचैन-पतलना मोटर मार्ग डामरीकरण लागत 237.61 लाख रू0, दौलाघट से रिखे-सिलानी तक मोटर मार्ग का नवनिर्माण 70 लाख रू0, रनमन-गणनाथ मोटर मार्ग से निरई तक ग्रामीण मोटर मार्ग का निर्माण लागत 135.78 लाख रू0, महात्मा गाॅधी स्मारक इण्टर कालेज चनौदा के जीर्ण-शीर्ण भवन का पुर्ननिर्माण 200.00 लाख रू0, उच्चीकृत कन्या माध्यमिक विद्यालय चनौदा में भवन निर्माण लागत 22.93 लाख रू0, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पच्चीसी में भवन निर्माण लागत 48.01 लाख रू0, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पच्चीसी में चाहरदीवारी निर्माण लागत 11.24 लाख रू0, शहीद मोहन सिंह मोटर मार्ग का बसौली तक विस्तार लागत 175.00 लाख रू0, इटौला-कनालबूंगा मोटर मार्ग के किमी0 02 का सुधारीकरण कार्य लागत 7.00 लाख रू0, राजकीय महाविद्यालय सोमेश्वर में मार्ग का डामरीकरण एवं सुधारीकरण कार्य लागत 10.00 लाख रू0, सोमेश्वर-गिरेछीना मार्ग से श्मशान घाट सोमेश्वर तक सड़क का डामरीकरण एवं सुधारीकरण लागत 7.00 लाख रू0, ममडछीना-पाटिया मोटर मार्ग का सुधारीकरण एवं डामरीकरण कार्य लागत 303.24 लाख रू0, सुनोली-तिलकपुर मोटर मार्ग निर्माण लागत 35.00 लाख, मुख्य रोड से ग्रामसभा जालधौलाड़ की ओर सी0सी0 सड़क निर्माण लागत 31.77 लाख रू0, गड़सारी ओखिना तथा सुन्यकोट में बरसाती नाली एवं तटबन्ध का निर्माण लागत 19.98 लाख रू0, भगतोला पेयजल योजना पुर्नगठन लागत 9.96 लाख रू0, सकार हरिजन बस्ती तोक पेयजल योजना पुर्नगठन लागत 9.32 लाख रू0, ज्यूला पेयजल योजना पुर्नगठन लागत 8.16 लाख रू0, रमैलाडुंगरी पेयजल योजना लागत 9.90 लाख रू0, डौनी पेयजल योजना लागत 63.39 लाख रू0, बेदनिया दन्यारी पेयजल योजना लागत 20.36 लाख रू0, सुनाड़ी पेयजल योजना का निर्माण लागत 10.08 लाख रू0, लोध पेयजल योजना लागत 4.44 लाख रू0, बडखल रौतेला मोटर मार्ग के किमी0 04 में डामरीकरण एवं सुधारीकरण लागत 32.77 लाख रू0, बड़गल रौतेला से बड़गल भटट मोटर मार्ग किमी0 01 में डामरीकरण लागत 62.43 लाख रू0, बजौल बाजार से अल्मियाकाण्डे बाजार तक मोटर मार्ग का नवनिर्माण लागत 26.00 लाख, न्याय पंचायत क्षेत्र अल्मियाकाडें में 23 नग पेयजल हैण्डपम्प का अधिष्ठापन कार्य लागत 75.51 लाख रू0, नैनीजाना पेयजल योजना में नलकूप का निर्माण लागत 132.43 लाख रू0, कोसी-दौलाघट-बिन्ता मोटर मार्ग का पुर्नस्थापना कार्य लागत 1670.00 लाख रू0, द्वाराहाट-बिन्ता-सोमेश्वर मोटर मार्ग का पुर्नस्थापना कार्य लागत 610.00 लाख रू0, शितलाखेत में मिनी स्टेडियम का निर्माण लागत 3.00 लाख रू0, ग्रामसभा शैल सोमेश्वर में खेल मैदान का निर्माण लागत 3.00 लाख रू0, राजकीय पौलीटैक्नीक  सोमेश्वर  के अनावसीय भवन का निर्माण लागत 2501.52 लाख रू0, रनमन-गणनाथ मोटर मार्ग का सुदृढ़ीकरण 96.13 लाख रू0, आई0टी0आई0 संस्थान सामेश्वर के महाविद्यालय के प्रशासनिक भवन एवं शैक्षणिक भवन का निर्माण लागत 492.17 लाख रू0, महाविद्यालय के विभिन्न नवीन निर्माण एवं जीर्णोद्वार व उच्चीकरण कार्य लागत 100.14 लाख रू0, उच्चीकृत विद्यालय राजकीय उ0मा0 विद्यालय डौनी में भवन निर्माण 57.06 लाख रू0 के अलावा सोमेश्वर में 100 शैया चिकित्सालय की स्थापना, आई0टी0आई0 ताकुला बसौली, आई0टी0आई0 दौलाघट की स्थापना, सोमेश्वर में कार्यशाला निर्माण, सोमेश्वर में गैस गोदाम का शिलान्यास, राजकीय महाविद्यालय शितलाखेत का शुभारम्भ आदि सम्मलित है। मा0 मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अल्मोड़ा में एक तकनीकी विश्वविद्यालय खोलने की बात की लेकिन उन्होंने कहा कि इसके लिए जनता को उन्हें पूर्ण सहयोग देना होगा तभी यह कार्य सम्भव होगा। अल्मोड़ा में आवासीय विश्वविद्यालय की स्थापना कर दी गयी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 02 किमी0 से कम जहाॅ पर सड़कों का निर्माण किया जाना है वहाॅ पर इसके निर्माण हेतु आधी धनराशि क्षेत्रीय विधायक स्वयं देंगे तथा आधी राशि प्रदेश सरकार वहन करेगी। इस अवसर पर उन्होंने जिलाधिकारी अल्मोड़ा सविन बंसल तथा जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण अल्मोड़ा के प्रयासों एवं उत्तरा सोसायटी पिथौरागढ़ द्वारा विकसित हैवन अल्मोड़ा मोबाईल ऐप्लीकेशन का शुभारम्भ करते हुए कहा कि जिलाधिकारी अल्मोड़ा द्वारा अत्यन्त सराहनीय कार्य किया गया है इसके द्वारा पर्यटन, संस्कृति, धार्मिक एवं परम्परागत व्यंजनों की जानकारी लोगो सुलभ हो पायेगी। मा0 विधायक सोमेश्वर श्रीमती रेखा आर्या ने कहा कि प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री द्वारा विकास रथ को आगे बढ़ाने का जो कार्य किया जा रहा है उसमें हमें पूर्ण सहयोग देना होगा तभी क्षेत्र का विकास सम्भव होगा। उन्होंने इस अवसर पर पिनाकेश्वर मन्दिर में रोपवे लगाने, ताकुला में बिजली उपकेन्द्र लगाने विभिन्न इण्टर कालेजों को स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों के नाम से रखने, सोमेश्वर में टैक्सी स्टेण्ड, कृत्रिम झील, सोमनाथ मन्दिर को पर्यटन मानचित्र में रखने सहित दो दर्जन से अधिक विभिन्न योजनाओं के माॅगपत्र प्रस्तुत किये जिसे मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि इसे शीघ्र स्वीकृत करने की कार्यवाही की जायेगी।  इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, पूर्व सांसद प्रदीप टम्टा, पूर्व विधायक करन मेहरा, विधायक बागेश्वर ललित फर्सवाण सहित अन्य लोगो ने सम्बोधित किया। इस कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष बागेश्वर हरीश ऐठानी, ब्लाॅक प्रमुख ताकुला दीपक बोरा, अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष राजेन्द्र बाराकोटी, सफाई आयोग के उपाध्यक्ष सिकन्द पंवार, नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश जोशी, के0एम0वि0एन0 के उपाध्यक्ष गोपाल दत्त भटट, चाय बोर्ड के उपाध्यक्ष कुबेर सिंह कठायत, दुग्ध संघ अध्यक्ष दीप डाॅगी, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री केवल सती, अधीनस्थ चयन आयोग के उपाध्यक्ष धर्म सिंह मेहरा, वन पंचायत सलाहकार समिति का उपाध्यक्ष राजेन्द्र टंगड़िया, ब्लाॅक प्रमुख ताड़ीखेत, रचना रावत, जिला पंचायत सदस्य बालम भाकुनी, अख्तर हुसैन, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मोहन सिंह मेहरा,जमन सिंह बिष्ट, गिरधारी लाल साहू, डी0आई0जी0 कुमाऊॅ पुष्कर सिंह सैलाल, पुलिस अधीक्षक के0एस0 नगन्याल, मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र, अपर जिलाधिकारी इला गिरि, उपजिलाधिकारी श्रीमती रिंकू बिष्ट, उपजिलाधिकारी हेमन्त वर्मा, तहसीलदार गौरी दत्त तिवारी, जिला विकास अधिकारी मोहम्मद असलम, परियोजना निदेशक डी0डी0 पंत, उप निदेशक अर्थसंख्या इला पंत सहित अनेक गणमान्य लोग व अधिकारी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला कांग्रेस अध्यक्ष पीताम्बर पाण्डे ने की। इस कार्यक्रम का संचालन लाल सिंह बजेठा व किशोर नयाल ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर सूचना विभाग द्वारा निःशुल्क प्रचार साहित्य वितरित किया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment