डॉ. रमन सिंह  आई एन वी सी न्यूज़आई एन वी सी न्यूज़
रायपुर,
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि शिक्षा के साथ-साथ समाज को संस्कारवान बनाने में देव संस्कृति विश्वविद्यालय का विशेष योगदान होगा। उन्होंने कहा कि अच्छे संस्कार से भावी पीढ़ी में मातृभूमि और देशप्रेम की भावना का विकास होगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज दुर्ग जिले के ग्राम सांकरा (कुम्हारी) में गायत्री परिवार द्वारा स्थापित देव  संस्कृति विश्वविद्यालय के भूमिपूजन के बाद आयोजित सभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए।
मुख्य अतिथि की आसंदी से समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि देव संस्कृति विश्वविद्यालय  की स्थापना से समाज की वैचारिक सोच में परिर्वतन आएगा और युवाओं में नवचेतना जागृत होगी। उन्होंने विश्वविद्यालय के निर्माण में राज्य सरकार की ओर से हरसंभव सहयोग देने का आश्वासन दिया। ग्राम सांकरा के समाजसेवी श्री वासुदेव शर्मा और डॉ. दीपक शर्मा द्वारा दान में दिए गए 45 एकड़ के भूमि में बनाये जाने वाले देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के बाद देश का दूसरा बड़ा विश्वविद्यालय होगा। यहां प्रदेश के साथ ही देशभर के युवाओं को औपचारिक शिक्षा के साथ-साथ नैतिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, आध्यात्म, विज्ञान की शिक्षा दी जाएगी। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलाधिपति और अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज, हरिद्वार के प्रमुख श्री प्रणव पंडया ने विश्वविद्यालय की स्थापना के उद्देश्यों से अवगत कराया। कार्यक्रम में राज्यसंभा सांसद श्री नंदकुमार साय, सांसद महासमुंद श्री चन्दूलाल साहू, सक्ती के विधायक डॉ. खिलावन साहू, पूर्व संसदीय सचिव श्री विजय बघेल, ग्राम पंचायत सांकरा की सरपंच श्रीमती रैमून बाई साहू सहित अन्य जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में गायत्री परिवार के सदस्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here