बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि नियोजित शिक्षकों के मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अब शिक्षक बहाली का रास्ता साफ हो गया है। उन्होंने कहा कि चुनाव खत्म होते ही बड़े पैमाने पर बिहार में शिक्षकों की बहाली की जाएगी। अभी तो आचार संहिता लागू है इसके खत्म होने के बाद सभी नियोजन इकाईयों से रिक्तियां मंगवाई जाएगी और इन्हीं रिक्तियों के आधार पर वैकेंसी निकाली जाएगी।

एक निजी चैनल से खास बातचीत में बिहार के शिक्षा मंत्री ने जानकारी दी कि वैकेंसी निकलते ही नियोजन इकाईयों को रोस्टर भेजे जाएंगे जिसमें  टीईटी अभ्यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सूबे में करीब 80 हजार से ज्यादा टीईटी पास अभ्यर्थी हैं और अब उनकी बहाली का रास्ता साफ हो गया है। मंत्री ने कहा कि आने वाली वेकेंसी में एसटीईटी पास को भी मौका दिया जाएगा और विषयवार बहाली को लेकर भी रुपरेखा तैयार की जाएगी। बता दें कि अक्टूबर 2017 में पटना हाईकोर्ट के फैसले के बाद बिहार सरकार ने शिक्षक बहाली की प्रक्रिया पर रोक लगा रखी थी। PLC