Close X
Tuesday, April 20th, 2021

शिकायतों की पेंडेन्सी एवं अप-स्केलिंग न बढ़ें

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
कृषि उत्पादन आयुक्त शाखा के सभी विभाग आपस में संबंधित बिन्दुओं को उपलब्ध कराकर वरिष्ठ अधिकारी आपस में समन्वय बनाते हुए चर्चा कर समस्याओं को सुलझायें। महत्वपूर्ण नीति विषयक मुददों पर चर्चा करें। सभी विभाग अपनी योजनाओं एवं कार्यक्रमों के साथ-साथ एक विजन बनाकर काम करें।

कृषि उत्पादन आयुक्त श्री राजेन्द्र कुमार तिवारी आज यहां सचिवालय स्थित अपने सभाकक्ष में ए0पी0सी0 शाखा के विभागों के अधिकारियों के साथ परिचयात्मक बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ए0पी0सी0 शाखा के विभाग सरकार के महत्वपूर्ण विभाग हैं। जन सामान्य एवं अर्थव्यवस्था पर इन विभागों का सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है। कृषि क्षेत्र शत-प्रतिशत जनसंख्या को प्रभावित करता है। कृषि उत्पाद आम व्यक्ति से जुड़े होने के कारण इसका जन समुदाय पर सर्वाधिक प्रभाव पड़ता है। कृषि उत्पादों के विपणन की सुदृढ़ व्यवस्था होनी चाहिए जिससे लोगों तक इसके पहुंच में कोई कठिनाई न हो। सारे विभाग अपने काम के साथ-साथ संबंधित दूसरे विभागों की निरर्भरता पर भी काम करें।

श्री तिवारी ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि बजट में आवंटित धन से सुनियोजित एवं समयबद्ध तरीके से निर्धारित कार्य को पूर्ण करते हुए खर्च करें, जिससे आम जन को योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ मिल सके। उन्होंने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंम्बर पर जन शिकायतों के निस्तारण पर विशेष जोर देते हुए कहा कि शिकायतकर्ता की पूर्ण संतुष्टि करते हुए समस्या का निराकरण करें और यह भी सुनिश्चित करें कि शिकायत का आखरी निस्तारण हो गया है। उन्होंने कहा कि शिकायतों की पेंडेन्सी एवं अप-स्केलिंग न बढ़ें।

कृषि उत्पादन आयुक्त ने सभी विभागों के अधिकारियों को यह निर्देश दिये कि वृक्षारोपण के अपने लक्ष्यों को शत-प्रतिशत पूरा करें। सभी विभागों में रिक्त पदों पर अधियाचन जिन भी आयोगों में भेजा जाना है, 15 दिनों के अन्दर विभागाध्यक्ष एवं शासन स्तर से भेज दिये जायें। उन्होंने निर्देश दिये कि भारत सरकार की स्कीमों के लिए धनराशि मांग पत्र समय से अवश्य भेज दें।


इस मौके पर प्रमुख सचिव कृषि, श्री अमित मोहन प्रसाद, प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास श्री अनुराग श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव युवा कल्याण श्रीमती डिम्पल वर्मा, प्रमुख सचिव उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण श्री सुधीर गर्ग, प्रमुख सचिव पशुधन, दुग्ध श्री बी0एल0 मीना एवं सभी विभागों के सचिव, विशेष सचिव सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment