आई.एन.वी.सी,,
जयपुर,,
केन्द्रीय गृहराज्यमंत्री श्री जितेन्द्र सिंह ने कहा है कि शहीदों के बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता, शहीदों के इस दुनिया से जाने के बाद भी उनका नाम व काम जीवित रहता है।
श्री सिंह रविवार को बहरोड़ के ग्राम मॉढण में शहीद कैलाश चंद यादव की मूर्ति का अनावरण कर उपस्थित जनसमुदाय को सबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शहीदों का समाज में ऊंचा स्थान है तथा उनके उल्लेखनीय कायोZ से आने वाली पीढ़ी प्रेरणा लेती है। उन्होंने जनसमुदाय का आह्वान किया कि वे शहीदों के आदर्श को अपने जीवन में अपनायें। उन्होंने कहा कि हर व्यçक्त को समाज व देश के लिए समर्पित रहना चाहिए ।
उन्होंने देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले सैनिकों को प्रान्त व देश का गौरव बताते हुए कहा कि सरकार के साथ-साथ समाज का भी दायित्व है कि उनकी समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता से करायें ताकि वे सीमा पर अपने दायित्वों का निर्वहन परिवार की तरफ से बेफिक्र होकर कर सकें। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि प्रान्त शिक्षा व तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी बनें क्योंकि शिक्षित प्रान्त ही विकास की ओर तेजी से अग्रसर हो सकता है ।
केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री ने बहरोड़ में आयोजित एक कार्यक्रम तथा गांव कुतीना में शहीद रामावतार सिंह, ग्राम इस्माईलपुर स्व. सैनिक धर्मवीर, ग्राम रायपुर मेवान में स्व. सैनिक बलवन्त सिंह यादव की शोकसभा में भी भाग लिया। इसके पश्चात केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री बहरोड़ के ग्राम बूढ़वाल में स्वतंत्रता सेनानी स्व.प्रहलाद सिंह को श्रृद्धांजलि अर्पित करने के लिए उनके घर गये तथा उनके शोक सन्तप्त परिजनों को सान्तवना दी। केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री के साथ विधायक मेजर ओ.पी.यादव, बहरोड़ की प्रधान बीना चौहान, योगेश मेहता, खैरथल कृषि उपज मण्डी के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र यादव, धर्मवीर आर्य सहित अनेक जन प्रतिनिधि थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here