Close X
Saturday, October 31st, 2020

शबरी मलाई मन्दिर मामला : स्वामी ओम जी मारेंगे जज को जूता

HINDUS-BLACKdAY-RAILLY-14-8-2013-2-300x218आई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली, अखिल भारत हिन्दू महासभा के अध्यक्ष और यूनाईटेड हिन्दू फ्रन्ट के उपाध्यक्ष श्री चन्द्र प्रकाश कौशिक जी की अध्यक्षता में हिन्दू संगठनों की एक बैठक हिन्दू महासभा भवन में हुई। जिसमें हिन्दुओ के धार्मिक मामलों में लगातार हस्तक्षेप कर रहे सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों को जमकर आडे हाथों लिया गया। बैठक मेें दारा सेना के अध्यक्ष श्री मुकेश जैन ने कहा कि आतंकवादी फोर्ड फाउन्डेशन के  मिश्निरी गिरोहों से जुडी विदेशी अंग्रेजी ताकते शबरी मलाई मन्दिर में रजस्वला स्त्री को प्रवेश कराकर मन्दिर की तांत्रिक शक्ति को समूल नष्ट करने का षडयन्त्र रच रहे हैं। ताकि भगवान अयप्पा की शक्ति को नेस्तनाबूत करके सम्र्पू.ा केरल को ईसाई बनाया जा सके। इस मामले में इन सी आई ए के ऐजेन्ट ताकतों ने सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायधीश केरल वासी महाभ्रष्ट ईसाई जज के जी बालाकृष्णन् की मदद से सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीशों को डालरों की झलक दिखा कर खरीदा है। जिसकी ऐवज में ही न्यायधीश दीपक मिश्रा इस गैर जरूरी मामले की सुनवायी न केवल प्रतिदिन के आधार पर कर रहे है बल्कि मन्दिर प्रशासन को धमका भी रहे है। जबकि इन जजों का न मन्दिर की तात्रिक शक्तियों में विश्वास है और न ही भगवान अयप्पा में। बैठक में ओजस्वी पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष स्वामी ओम जी ने कहा कि जहां मिश्निरी ताकतें हिन्दू धर्म पर लगातार हमला कर रही हैं, वहीं हिन्दुत्व के धर्मरक्षक भी नरेन्द्र दाभोलकर और ग्राहम स्टेंस जैसे अधर्मी दैत्यों का विनाश भी कर रहे हैं। स्वामी ओम जी ने हाल ही में बिहार में हवन पूजा को प्रतिबन्धित करने पर मुख्य मंत्री नीतिश कुमार की चप्पलों से पिटाई करना धर्मर{ाकों  द्वारा सही समय पर उठाया सही कदम बताया। बैठक में स्वामी ओम जी ने शबरी मलाई मन्दिर में रजास्वला स्त्री का प्रवेश कराने पर तुले अन्यायधीश दीपक मिश्रा को जूते से मारने की भी घोषणा की जिसका सभी हिन्दू संगठनों ने भगवान अयप्पा का जयकारा लगाकर स्वागत किया। हिन्दू संगठन इससे पूर्व सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य अ न्यायधीश के जी बालाकृष्णन् को कीचड फैककर न्यायालय छोडने को मजबूर कर चुके हैं। हिन्दू संगठन इस मामले में जल्द ही सर्वोच्च न्यायालय का घेराव करके अ न्यायधीश दीपक मिश्रा का पुतला भी दहन करेंगे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment