Close X
Tuesday, June 22nd, 2021

वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर ड्राई रन शुरू 

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में संक्रमण कम हो रहा है लेकिन अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए आवश्यक है कि सभी लोग सावधानी बरतें, मास्क का निरन्तर उपयोग करें, हाथ धोते रहें, भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचंे तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में प्रदेश सरकार ने कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने हेतु सर्विलांस का अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के अन्तर्गत प्रदेश सरकार ने हर परिवार तक स्वयं पहुंचकर उनका हालचाल जान रही है। यह पूरे देश में एक अनूठा प्रयास है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 02 करोड़ 42 लाख से अधिक कोरोना के टेस्ट किये जा चुके हैं जिनमें केवल आरटीपीसीआर से 01 करोड़ से अधिक टेस्ट किये गये हैं। इसके साथ ही लगभग 15 करोड़ 09 लाख लोगों तक स्वास्थ्य विभाग की टीमें पहुंचकर उनका हालचाल लिया है और जिनमंे कोविड-19 के लक्षण पाये गये हैं उनका टेस्ट कराया गया है। इस प्रकार 24 करोड़ की आबादी में से लगभग 17.50 करोड़ लोगों तक व्यक्तिगत रूप से पहुंचकर उनका हालचाल जाना गया है, या उनका टेस्ट हुआ है। संक्रमण कम होने से हाॅटस्पाॅट और कन्टेनमेंट जोन में कमी आयी है।

श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा 06 जनवरी से किसान सम्मान मिशन चलाया जायेगा। किसान सम्मान मिशन में किसानों को उपज से लेकर, फसल के विक्रय तक, खेती के लिए सिंचाई, बीजों की उपलब्धता आदि विषयों पर चल रही सरकार की योजनाओं से अवगत कराया जायेगा तथा उनको लाभान्वित भी कराया जायेगा। प्रथम चरण में 06 जनवरी 2021 को 350 विकास खण्डों पर एक विशेष जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। जिसमें किसानों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को किसान भाईयों कों अवगत कराकर उन्हें लाभान्वित भी किया जायेगा। उन्होंने बताया कि किसानों की आय दोगुनी करने के प्रयास में किसानों को नई खेती नये प्रकार के आय के संसाधन हेतु प्रेरित करते हुए कृषि के उन्नत किस्मों से कृषि की उन्नत तरीकों से उन्हें अवगत भी कराया जायेगा।

श्री सहगल ने बताया कि संक्रमण कम होने से औद्योगिक गतिविधियां तेजी से चल रही हैं। निर्यात में प्रदेश देश में 5वें स्थान पर है। प्रदेश में अर्थव्यवस्था बहुत तेजी से सामान्य हो रही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में युवाओं के लिए मिशन रोजगार चलाया जा रहा है। प्रदेश सरकार युवाओं को रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से स्वरोजगार में लगाने की एक मुहिम चला रही है। इसी क्रम में सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों में तेजी लाई जा रही है। उन्होंने बताया कि सभी आयोगों, विभागों, निगमों, परिषदों को कहा गया है कि उनके यहां जितनी रिक्तियां हैं उनकों भरने के लिए प्रक्रिया शीघ्र की जाय। इसके साथ-साथ स्वरोजगार के माध्यम से भी रोजगार के अधिक अवसर प्रदान किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। इसी क्रम में बैंकों से समन्वय किया जा रहा है। बैंकों से समन्वय करके प्रदेश में अभी तक 6.88 लाख नई एमएसएमई इकाईयों की स्थापना वर्तमान वित्तीय वर्ष में कोरोना काल के बाद की गयी है। जिसके लिए बैंकों द्वारा लगभग 20865 करोड़ रूपये के ऋण वितरित किये गये हैं। इसके साथ-साथ आत्मनिर्भर पैकेज में पुरानी एमएसएमई इकाईयों को लगभग 4.37 लाख पुरानी इकाईयों को 11,100 करोड़ रूपये के ऋण वितरण किये गये हैं। इस प्रकार 14 मई के पश्चात अब तक लगभग 11.20 लाख से अधिक एमएसएमई इकाईयों को बैंकों द्वारा लगभग 32 हजार करोड़ रूपये के ऋण उपलब्ध कराये गये हैं और इसी प्रक्रिया से लगभग 27 लाख लोगों को प्रदेश में रोजगार के अवसर मिले हैं। इस वर्ष प्रयास है कि ये 6.88 लाख नई इकाईयां की संख्या को बढ़ाकर 20 लाख एमएसएमई इकाईयों को वित्त पोषित कराकर इन्हीं के माध्यम से कम से कम 80 लाख से 01 करोड़ युवाओं को रोजगार से जोड़ा जायेगा।

श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। अभी तक 510 लाख कु0 धान किसानों से खरीदा गया है, जिसकी लागत लगभग 9545 करोड़ रूपये है। उन्होंने बताया कि पिछले साढ़े तीन वर्षों में प्रदेश सरकार द्वारा किसानों से लगभग 180 लाख मी0टन धान और 162 लाख मी0 टन गेहूं खरीदा गया है जिसका लगभग 60 हजार करोड़ रूपये किसानों के खातों में स्थानान्तरित किया गया है। यह प्रक्रिया जारी है और किसानों को प्रदेश सरकार की तरफ से आश्वासन दिया गया है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर जो खरीददारी की जा रही है, वो समाप्त नहीं किया जायेगा। इस वर्ष मक्का को भी न्यूनतम समर्थन मूल्य में सम्मिलित कर लिया गया है और एमएसपी के अन्तर्गत मक्का की भी खरीद की जा रही है।

श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर नोडल अधिकारियों द्वारा जनपदों की समीक्षा और धान क्रय केन्द्र, गो संरक्षण केन्द्र का निरीक्षण किया गया था। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिया है कि नोडल अधिकारियों से जो आख्याएं प्राप्त हुई हैं उनके आधार पर जनपदवार कार्य किये जाएं तथा जहां सुधार हो सकता है वहां सुधार कराया जाय और यह धान क्रय केन्द्र, गन्ना क्रय केन्द्र और गो संरक्षण केन्द्र इन तीनों जो सरकार की योजनाएं हैं जिसमें कि खेती-किसानी से सम्बंधित कार्य कराये जा रहे हैं। इनमें तेजी लाई जाए और इसमें किसी प्रकार की कोताही एवं कमी न रखी जाय।  

  अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,29,111 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,42,16,483 सैम्पल की जांच की गयी है, जिसमें 01 करोड़ से अधिक की जांच आर0टी0पी0सी0आर0 के माध्यम से की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 728 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 13,316 कोरोना के एक्टिव मामले में संे 5518 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 1,305 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे हंै। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटे में 1190 लोग तथा अब तक कुल 5,65,731 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी प्रतिशत 96.30 है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,80,327 क्षेत्रों में 5,01,166 टीम दिवस के माध्यम से 3,10,33,580 घरों के 15,09,42,788 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 3953 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। अब तक 3,40,474 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है।

श्री प्रसाद ने बताया कि मा0 राज्यपाल महोदया द्वारा आज टी0बी0 का अभियान शुभारम्भ किया गया। यह अभियान आज से 12 जनवरी, 2021 तक चलाया जायेगा। इस अभियान के अन्तर्गत घर-घर जाकर संदिग्ध टी0बी0 मरीजों की खोज की जायेगी। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुए 10 जनवरी, 2021 से मुख्यमंत्री आरोग्य मेला प्रारम्भ किया जायेगा।

श्री प्रसाद ने बताया कि आज वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर लखनऊ के 06 स्थानों पर ड्राई रन चलाया गया। इसके बाद पूरे प्रदेश में 05 जनवरी से ड्राई रन चलाया जायेगा। यह अभियान प्रत्येक जनपद के 06 स्थानों पर जिनमें 03 शहरी क्षेत्र तथा 03 ग्रामीण क्षेत्रों में चलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन की तैयारियां चल रही है, जिसके अन्तर्गत कोविड चेन का विस्तार, स्टोरेज की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही वैक्सीन रखने वाले स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जा रहे है। कोविड वैक्सीन के भण्डारण के साथ-साथ वैक्सीन लक्षित समूहों को चरणबद्ध तरीके से लगाने की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने बताया कि 09 दिसम्बर के बाद से यू0के0 से आने वाले लोगों का कोविड-19 टेस्ट कराया जा रहा है। अब तक 2500 से अधिक सैम्पल लेकर टेस्ट किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि कोविड के नये संक्रमण से लोगों को डरने व घबराने की आवश्यकता नहीं है इससे बचाव के भी वही तरीके है जो अब तक अपनाये जा रहे है। इसलिए सभी लोग मास्क पहनें, हाथ साबुन-पानी से धोते रहें तथा लोगों से दो गज की दूरी बनाये रखें। जब तक वैक्सीन नहीं आती तब तक कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए पहले से बीमार बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं को संक्रमण से बचाना होगा।  

Comments

CAPTCHA code

Users Comment