Close X
Tuesday, September 29th, 2020

वेस्ट मैनेजमेंट योजना तैयार : खट्टर

manohar lal khattar ,cm hariyana manohar lal khattarआई एन वी सी न्यूज़ झज्जर , हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने स्वच्छ हरियाणा-स्वस्थ हरियाणा का संकल्प लेते हुए प्रदेश भर में सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट लगाने की योजना तैयार की है और इस कड़ी को आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री ने झज्जर जिले के लिए 20 करोड़ रुपए की राशि सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट के लिए मंजूर की। मुख्यमंत्री आज झज्जर जिले के गांव हसनपुर में स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर राज्यस्तरीय कार्यक्रम ग्रामीण विकास के लिए युवाओं को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने स्वच्छ हरियाणा के संकल्प के साथ-साथ प्रदेश के युवाओं से आह्वान किया है कि ग्रामीण विकास से जुड़ी योजनाएं एवं कार्यक्रमों की पूरी निगरानी रखें ताकि भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टोलरेंस के नारे को हकीकत में बदला जा सके। ऊपर से नीचे तक चलने वाली इस बुराई को समाप्त करने के लिए मेरा यह आश्वासन है कि ऊपर बैठा कोई नेता भ्रष्टाचार नहीं करेगा। यह बात नेताओं के साथ अधिकारियों और कर्मचारियों को भी समझनी चाहिए। श्री मनोहर लाल ने स्वामी विवेकानंद जयंती की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि समाज के विकास एवं निर्माण में युवा शक्ति का अपना योगदान होता है। स्वामी विवेकानंद कम ही आयु में न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया विशेषकर यूरोप और अमेरिका में युवाओं के लिए प्रेरणा बने। इस प्रकार के आयोजन से युवा शक्ति को सकारात्मक कार्यक्रम की ओर ले जाने के लिए कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ तथा सहकारिता मंत्री बिक्रम सिंह को बधाई के पात्र है। प्रदेश और देश की भलाई केलिए युवा शक्ति को जोड़ने का यह एक सराहनीय कदम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की जनता को हम भ्रष्टाचार मुक्त माहौल तब ही दे पाएंगे, जब हरियाणा के ढाई करोड़ निवासी मेरा साथ दें। उन्होंने युवाओं से हाथ उठाकर जब कहा कि मेरे साथ आप यह बीड़ा उठाने को तैयार है तो पंडाल में हर्षध्वनि के साथ युवाओं ने हाथ उठाकर मुख्यमंत्री को सहयोग देने का भरोसा दिलाया। युवाओं के इस भरोसे से उत्साहित हो मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की आबादी का 75 से 80 प्रतिशत हिस्सा गांव में बसता है। शहरों के बड़े-बड़े भवन, लंबी-चौड़ी सड़क, उद्योग-धंधे आदि को देखकर विकास का आंकलन तो किया जा सकता है लेकिन असली सुःख-शांति गांव में ही है। ग्रामीण विकास के लिए युवा कार्यक्रम का प्रमुख उद्देश्य शहर के विकास और गांव की आत्मा का संगम कराना है। गांव के जनजीवन को और अधिक बेहतर तभी बनाया जा सकता है, जब इसमें जनभागीदारी हो। उन्होंने देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी का जिक्र करते हुए कहा कि सबका साथ-सबका विकास इसी सोच पर आधारित है। केवल सरकार या प्रशासन विकास की बात करें तो संभव नहीं, यह संभव तभी होगा जब जनता विशेषकर युवाओं की विकास में भागीदारी हो। इस कार्यक्रम के जरिए युवाओं की यह दोहरी जिम्मेवारी होगी स्वयं के साथ अपने गांव तथा आस-पास के परिवेश का विकास करें। मुख्यमंत्री ने युवाशक्ति को नशा आदि विकारों से बचने का भी आह्वान करते हुए कहा कि शरीर, मन और बुद्धि को शुद्ध रखने के लिए अच्छे संस्कार, स्वास्थ्य और शिक्षा का होना बेहद जरूरी है। उन्होंने युवाओं में जोश भरते हुए कहा कि आप जीवन में यह संकल्प लें कि अपने साथ एक बच्चे को शिक्षित अवश्य बनाएंगे। उन्होंने पंचतंत्र में वर्णित एक कहानी सुनाते हुए युवाओं को अच्छे और बुरे का अंतर समझाते हुए कहा कि जो केवल अपना भला सोचे वह असुर और जो दूसरे की भलाई करें वह देवता होता है। परोपकार की भावना के साथ इस कार्यक्रम में शामिल होकर हम अपने गांव का भला कर सकते हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री ने स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलित करते हुए किया। मेजबान कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने मुख्यमंत्री को स्मृति चिह्न भी भेंट किया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment