आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
राज्यपाल एवं  कुलाधिपति कलराज मिश्र की अध्यक्षता में तथा राष्ट्रीय प्रत्यायन मण्डल (एन.बी.ए.) प्रो.के.के. अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य में राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय कोटा का 10वां दीक्षान्त समारोह शुक्रवार को वर्चुअल आयोजित किया गया।

विशिष्ठ अतिथि तकनीकी शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री  डॉ.सुभाष गर्ग ने दीक्षान्त समारोह में तकनीकी शिक्षा के विद्यार्थियों को पेटेंट के क्षेत्र में कार्य करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने उपाधि एवं गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि तकनीकी छात्र बहुत अच्छा कर रहे हैं। आरटीयू कोटा पुराना एवं प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय है, किन्तु यह भी एक चुनौती है कि अभी तक विश्वविद्यालयों की ओर से पेटेंट के क्षेत्र में कार्य नहीं हो पाया है। उन्होंने छात्र-छात्राओं को प्रेरित करते हुए कहा कि वे आगे आए और पूर्व छात्र के रूप में अध्ययनरत विद्यार्थियों को सहयोग करें।

डॉं. गर्ग ने कहा कि तकनीकी विश्वविद्यालय से पास आउट होने वालों की संख्या में तो वृद्धि हो रही है किन्तु गुणवत्ता में भी वृद्धि की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमें चुनौतियों को भी अंगीकार करना होगा। उन्होंने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों तथा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को तकनीक से जोड़कर उन्हें आगे बढ़ने के अवसर देने होंगे। उन्होंने कहा कि आरटीयू और बीटीयू गावों में टेक्नोहब बनाकर हम युवा पीढ़ी को इन टेक्नो हब से जोड़े ताकि उनके लिए रोजगार के अवसर पैदा हो और उनमें उद्यमिता का विकास हो सके। उन्होंने कहा कि एन.बी.ए. के पैरामीटर्स अच्छे है किन्तु नए र्कोसेस के लिए कुछ छूट दी जानी अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि हमारे विद्यार्थियों में लीडरशिप का विकास हो, नए कोर्सेज और रिसर्च को बढ़ावा मिले इस पर बल देना आवश्यक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here