Close X
Saturday, October 31st, 2020

विकास कार्य पूरी निगरानी में

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि जन समस्याओं के निस्तारण में अधिकारी लापरवाही नहीं बरतें और उनकी समस्याओं का निस्तारण समय पर सुनिश्चित करें। 

श्री पायलट सोमवार को जालोर जिला कलेक्टे्रट सभागार में समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पानी, बिजली, सड़क और कृषि कनेक्शनों के मामलों को प्राथमिकता से निबटाएं और आमजन को हर सम्भव स्थिति में राहत प्रदान करें। उन्होंने कहा कि जिन विषयों से आमजन का जीवन प्रभावित होता है उन्हें प्राथमिकता देना ही सरकार की प्राथमिकता है।

उप मुख्यमंत्री ने जिला कलक्टर श्री महेन्द्र सोनी को निर्देश दिए कि वे भीषण गर्मी के इस मौसम में जिले के सभी कस्बों एवं गांव-ढाणियों में टैंकरों के माध्यम से पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था करवाना सुनिश्चित्त करें। श्री पायलट ने कहा कि जलापूर्ति के लिए जो फण्ड उपलब्ध है उसका सदुपयोग इस भीषण गर्मी के मौसम में ही किया जाना है। उन्होंने कहा कि जिले भर में जहां-जहां विद्युत ट्रांसफार्मर खराब हैं उनकी ऑडिट करवाएं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन विभागीय अधिकारियों के माध्यम से सम्बंधित कम्पनी से समन्वय स्थापित करते हुए ट्रांसफार्मरों की मरम्मत और आवश्यकता होने पर उन्हें बदले जाने पर भी विशेष ध्यान दें।

श्री पायलट ने कहा कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जहां-जहां सड़कों की मरम्मत की आवश्यकता है उनका पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के माध्यम से सर्वे करवाया जाए। साथ ही सड़कों के पैच वर्क को भी आगामी मानसून से पहले पूरा करवाया जाए ताकि बारिश के दौरान आमजन को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। 

उप मुख्यमंत्री ने जिले में महात्मा गांधी नरेगा योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि अधिकारी नरेगा श्रमिकों को जानकारी दे कि यदि वे नरेगा के तहत 100 दिन का काम पूरा कर लेते हैं तो उन्हें अतिरिक्त लाभ देय हैं। उन्होंने कहा कि 100 दिन का काम पूरा करने पर उन्हें मिलने वाले बच्चों की शिक्षा, विवाह एवं बीमा से जुड़े लाभों के बारे में सरल भाषा में  व्यापक प्रचार-प्रसार कराएं। इससे अधिक से अधिक कार्य दिवस सृजित किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि विकास के कार्यों पर अधिक से अधिक श्रमिकों का नियोजन करें ताकि उनकी औसत मजदूरी 200 रूपये प्रतिदिन तक पहुंच सके।

श्री पायलट ने नरेगा श्रमिकों को मजदूरी के भुगतान में चितलवाना एवं रानीवाड़ा के विकास अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए भुगतान शीघ्र पूरा कर आयुक्त नरेगा को रिपोर्ट करने के लिए कहा।

इससे पहले उप मुख्यमंत्री ने जसवंतपुरा पंचायत समिति के भरूड़ी ग्राम पंचायत मुख्यालय पर मनरेगा के तहत निर्माणाधीन विशाल तालाब के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। इस दौरान श्री पायलट मनरेगा श्रमिकों से आत्मीयता से मिले और उनसे कार्य स्थल पर उपलब्ध कराए जाने वाली सुविधाओं और व्यवस्थाओं का सीधा फीडबैक लिया।

उप मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व भीनमाल पंचायत समिति में विशाल जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे बिजली, पानी और चारे की समस्याओं का जमीन स्तर पर जायजा लेने के लिए क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता के मन में जो विश्वास है उसे बरकरार रखा जाएगा और जो जिम्मेदारी सरकार को मिली है उसे पूरा किया जाएगा। उन्होंने  कहा कि सरकार हर क्षेत्र में बिना भेदभाव और पक्षपात के विकास के कार्य करवाएगी।

इसके बाद अधिकारियों से चर्चा करते हुए श्री पायलट ने कहा कि विकास कार्यों और मनरेगा के कार्यों की पूरी निगरानी की जा रही है। इनमें किसी भी स्तर पर किसी भी प्रकार की अनियमितता सामने आने पर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनायी जाएगी।

इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी, वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई, विधायक नारायण सिंह देवल, जोगेश्वर गर्ग, छगनसिंह राजपुरोहित, जिला प्रमुख वन्ने सिंह गोहिल, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास राजेश्वर सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव पीडब्ल्यूडी वीनू गुप्ता, मनरेगा आयुक्त पी.सी. किशन, पीडब्ल्यूडी सचिव एम.जी. माहेश्वरी, पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत, जिला परिषद सीईओ अशोक कुमार तथा अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं विभागीय अधिकारी भी उपस्थित थे।



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment